Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद। भाजपा सरकार किसान विरोधी एक रुपए की भी गन्ना मूल्य में नहीं की बढौतरी।

    शिबली इकबाल\देवबंद। क्षेत्र के गांव मिरगपुर गुरु बाबा फकीरा दास जी के मेले  के अवसर पर किसानों से वार्ता करते हुए भारतीय किसान यूनियन वर्मा व पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि भाजपा की प्रदेश और केंद्र सरकार किसान विरोधी है।प्रदेश के गन्ना किसानों के 3 महीने से इंतजार करते हुए की सरकार गन्ने का इस बार लाभकारी रेट घोषित करेगी लेकिन गन्ना किसान विरोधी योगी सरकार ने गन्ने का मूल्य 1 रू कुंटल भी नहीं बढ़ाया है।भगत सिंह वर्मा ने कहा कि 2024 लोकसभा चुनाव में प्रदेश के गन्ना किसान भाजपा को किसी भी कीमत पर वोट नहीं देंगे और गन्ने का रेट न बढ़ाना भाजपा को काफी महंगा पड़ेगा।उन्होने कहा कि इस बार गन्ना उत्पादन पर सबसे अधिक लागत आई है और गन्ने की पैदावार भारी लागत के चलते 25 से 30ः कम हो गई है।फिर भी गन्ने का रेट न बढ़ाना गन्ना किसानों की घोर उपेक्षा है।

    गांव मिरगपुर में बैठक को सम्बोधित करते भगत सिंह वर्मा

    भगत सिंह वर्मा ने कहा कि सरकार प्रतिवर्ष 40000 करोड रुपए से अधिक एक्साइज ड्यूटी के रूप में गन्ना किसानों के दम पर राजस्व वसूल कर रही है और इसके अलावा गन्ने से उत्पादित अल्कोहल और अल्कोहल से बनने वाले हजारों उत्पाद पर एक लाख करोड रुपए के आसपास टैक्स वसूल रही है।इस हिसाब से भाजपा की योगी सरकार को गन्ना किसानों की बढ़ती हुई लागत को देखते हुए गन्ने का लाभकारी रेट 600 कुंटल करना चाहिए था। वर्मा ने कहा कि भाजपा की सरकार जानबूझकर किसानों को गरीब बनाने पर लगी हुई है जिसके लिए सभी किसानों को एकजुट होकर बड़ा संघर्ष करना होगा।गन्ने का रेट न बढ़ाने पर पूर्व जिला पंचायत सदस्य सुधीर चैधरी,रामकिशन सैनी एडवोकेट,आजाद सिंह एडवोकेट,रामपाल सिंह एडवोकेट,मोहम्मद अब्दुल वाहिद मुन्ना,मोहम्मद शाहिद, मोहम्मद जाहिद,संजय चैधरी, नरेंद्र सिंह फौजी,ऋषि पाल प्रधान,चैधरी नीरपाल सिंह गुर्जर,ऋषि पाल सिंह गुर्जर, भूपेंद्र सिंह चैधरी,डॉक्टर यशपाल त्यागी,महिपाल सिंह फौजी,भारतीय किसान यूनियन वर्मा के प्रदेश सचिव चैधरी ऋषि पाल गुर्जर,प्रधान रविंदर चैधरी आदि ने रोष प्रकट किया।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.