Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    मिश्रिख\सीतापुर। अतिक्रमण हटाने के नाम पर गरीब की उजाड़ी गई दुकान।

     संदीप चौरसिया तहसील मिश्रिख की रिपोर्ट

    मिश्रिख\सीतापुर। अतिक्रमण हटाने के नाम पर गरीब की उजाड़ी गई दुकान, अगल-बगल के अतिक्रमणकारियों पर तहसील प्रशासन क्यों है मेहरबान। प्रदेश शासन द्वारा मार्गो के किनारे गंभीर समस्या बने अवैध अतिक्रमण को शीघ्र हटाकर सड़कों को साफ सुथरा करने का दिया गया निर्देश यहां तहसील मुख्यालय पर एसडीएम की लालफीताशाही का शिकार होकर रह गया है। एक गरीब हवा भरने वाले की दुकान लेखपाल और एक अन्य कर्मचारी द्वारा रखने के बदले मांगी गई रकम अदा न करने पर उसके लोहे के खोखे को उपजिलाधिकारी का आदेश बताकर जेसीबी से तोड़वाकर गायब करा दिया गया। 

    जबकि इस खोखे के अगल बगल उपजिलाधिकारी आवास की बाउंड्री और सीतापुर हरदोई मार्ग के मध्य अन्य कई दुकाने आज भी अंगद पांव की तरह जमी हुई हैं जिनकी तरफ तहसील प्रशासन की मेहरबानी लोगों में एक अनुत्तरित प्रश्न को जन्म दे रही है कि एक पर सितम और दूसरों पर रहम आखिर क्यों अगर हवा भरने वाले गरीब का खोखा अतिक्रमण की जद में था तो उसी के पड़ोस में अन्य अतिक्रमणकारियों की तरफ उप जिला अधिकारी की नजर क्यों नहीं पहुंच पा रही है आखिरकार इसके पीछे कौन सा है राज ? जिसकी तरफ प्रदेश शासन और जिला प्रशासन को गंभीरता से पहल करने की आवश्यकता है ताकि उपजिलाधिकारी द्वारा एक की दुकान हटाकर और दूसरों को वरदान देकर अपनाया जाने वाला दोहरा मापदंड समाप्त हो सके।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.