Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    श्रावस्ती। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में विकास कार्यक्रमों एवं निर्माण कार्यो की प्रगति समीक्षा बैठक सम्पन्न।

    रिपोर्ट:- सर्वजीत सिंह 

    .......... विकास कार्योे में शिथिलता बर्दाश्त नहीं-जिलाधिकारी

    श्रावस्ती। जिलाधिकारी नेहा प्रकाश की अध्यक्षता में शासन के सर्वोच्च प्राथमिकता प्राप्त विकास कार्यक्रमो एवं निर्माण कार्यो (नवीन 37 प्रारूप) की प्रगति समीक्षा बैठक विकास भवन सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि निर्माणाधीन विकास के अधूरे कार्यो को युद्ध स्तर पर कार्य कराकर पूरे किये जाए। इसके अलावा अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों द्वारा कार्य योजना बनाकर अपने-अपने निर्धारित विभागीय लक्ष्यों को निर्धारित समयावधि के अन्दर पूरा किया जाए। यदि इसमें किसी भी विभागीय अधिकारी द्वारा लापरवाही बरतने की शिकायत मिली तो निश्चित ही उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

    बैठक में निर्माण कार्यो की समीक्षा के दौरान यह ज्ञात हुआ कि गिलौला कस्बा में निर्माणाधीन बस-स्टेशन जो कार्यदायी संस्था आवास-विकास परिषद द्वारा बनाया जा रहा है, जिसकी गुणवत्ता ठीक न होने की शिकायतें मिल रही है। इस प्रकरण में जिलाधिकारी ने टेक्निकल टीम से गुणवत्ता की जांच हेतु निर्देश दिया है। वहीं सी0एन0डी0एस0 द्वारा हरदत्त नगर गिरंट में निर्माणाधीन महाविद्यालय के निर्माण कार्य में कोई प्रगति न पाये जाने पर सी0एन0डी0एस0 के परियोजना प्रबन्धक को ढंग से कार्य करने की नसीहत दी गई है। वहीं समाज कल्याण अधिकारी को जिले में प्रस्तावित मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना आदि से सम्बन्धित कार्यवाही कराने का निर्देश दिया गया है। वहीं जिला विद्यालय निरीक्षक को कार्यदायी संस्थाओं द्वारा कार्यो को पूरा करने के बाद उन्हें भुगतान करने का निर्देश दिया गया है। उन्होने अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिया कि सड़कों की मरम्मत कार्य में तेजी लायी जाए और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना द्वारा निर्मित सड़कों की गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए। इसके लिए लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता, सहायक अभियंता व अवर अभियंता को निर्देशित किया कि जिला पंचायत स्तर से चल रहे मरम्मत कार्य का भी निरीक्षण कर जायजा लेते रहे। 

    इसके अतिरिक्त बैठक में विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देश दिया कि निवेश मित्र पोर्टल का प्रचार-प्रसार कराया जाए। और यह भी सुनिश्चित किया जाए कि इससे अधिक से अधिक उपभोक्ताओं को लाभ मिल सके। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की भी समीक्षा की गई। पशुपालन विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि जिले के सभी गोशालाओं में गोवंशो को ठंडी से बचाव हेतु कारगर व्यवस्था की जाए। पशुओं का शत-प्रतिशत ईयर टैगिंग कराया जाए। इसके अलावा भूसा, हरा चारा एवं रख-रखाव की भी समुचित व्यवस्था की जाए, ताकि गोवंशों को कोई दिक्कत न होने पाये। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि कैम्प लगाकर पात्रों को आयुष्मान कार्ड मुहैया कराया जाए। दवाओं की हमेशा शत-प्रतिशत उपलब्धता सुनिश्चित रखी जाए तथा परिवार नियोजन पर विशेष बल दिया जाए। 

    इसके अतिरिक्त बैठक में समाज कल्याण विभाग, अल्पसंख्यक कल्याण, पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग, दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, प्रोबेशन, बेसिक शिक्षा विभाग, कौशल विभाग सहित अन्य तमाम विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की प्रगति की गहन समीक्षा की गई और लक्ष्य पूरा करने हेतु निर्देशित किया गया। बैठक का संचालन मुख्य विकास अधिकारी अनुभव सिंह ने किया।

     इस अवसर पर उपजिलाधिकारी आर0पी0 चैधरी, जिला विकास अधिकारी रामसमुझ, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एस0पी0 तिवारी, परियोजना निदेशक इन्द्रपाल सिंह, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी अजय कुमार यादव, डी0सी0 एन0आर0एल0एम0, उपनिदेशक कृषि कमल कटियार, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 विनोद कुमार, जिला पंचायत राज अधिकारी आनन्द प्रकाश, अधिशासी अभियंता जल निगम एस0एम0 असजद, जिला विद्यालय निरीक्षक सन्त प्रकाश, सहायक निदेशक मत्स्य सुरेश कुमार सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.