Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    श्रावस्ती। जिलाधिकारी ने जिला पंचायत रिसोर्स सेंटर में द्वीप प्रज्वलित कर ’समर्थ कार्यशाला’ का किया शुभारम्भ।

    रिपोर्ट:-सर्वजीत सिंह 

    .......... दिव्यांग बच्चों को शिक्षा की मुख्यधारा के लिए ’समर्थ कार्यशाला’ है महत्वपूर्ण-जिलाधिकारी

    श्रावस्ती। जनपद के समस्त परिषदीय मान्यता प्राप्त एवं सहायता प्राप्त विद्यालयों में नामांकित विभिन्न श्रेणी के दिव्यांग बच्चों को शिक्षा की मुख्यधारा में समाहित किये जाने के उद्देश्य से ’समर्थ कार्यशाला’ का आयोजन जिला पंचायत रिर्सोस सेन्टर में किया गया, जिसका जिलाधिकारी नेहा प्रकाश ने द्वीप प्रज्वलित कर शुभारम्भ किया। जिसमें डिसलेक्सिया व अटेंशन डैफिसिटी एण्ड हाइपर एक्टिविटी सिन्ड्रोम से प्रभावित बच्चों की पहचान हेतु शिक्षकों को तीन दिवसीय प्रशिक्षण दिया जायेगा।

    इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि यह कार्यशाला इस रूप में भी महत्वपूर्ण है क्योंकि प्रायः दिव्यांग बच्चों की शिक्षा को लेकर अभिभावक सचेत नहीं होते हैं, जिसके कारण बड़ी संख्या में दिव्यांग बच्चे शिक्षा की मुख्यधारा में समाहित नहीं हो पाते हैं। यदि बच्चे विद्यालयों में नामांकित होते भी हैं तो सामान्य अध्यापकों को दिव्यांगता के संबंध में जानकारी ना होने के कारण ऐसे बच्चों के साथ कक्षा शिक्षण में भी समस्या होती है। इस समस्या के निदान के लिए आज समर्थ कार्यशाला का आयोजन किया गया है। उन्होने कहा कि कार्यशाला में अध्यापकों को डिसलेक्सिया एवं विभिन्न श्रेणी की दिव्यांगों के संबंध में जानकारी दी जाएगी जो प्रत्येक प्रकार से अध्यापकों के लिए उपयोगी होगी। इस अवसर पर जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी चमन सिंह ने कहा कि डिसलेक्सिया एक ऐसी दिव्यांगता है, इसके संबंध में बहुत कम लोगों को जानकारी होती है। जिसके कारण यह बच्चे अपनी असीम क्षमता के कारण भी समाज की मुख्यधारा में जुड़ने से वंचित रह जाते हैं, इसलिए कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। जिससे विद्यालय में नामांकित बच्चों को शिक्षा के मुख्य धारा से जोड़ा जा सके।

    जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अमिता सिंह ने बताया की समग्र शिक्षा अभियान के अंतर्गत विभिन्न श्रेणी के दिव्यांग बच्चों को शिक्षा देने के साथ ही साथ उन्हें अनेक प्रकार के आवश्यक उपकरण भी उपलब्ध कराए जाते हैं। जिससे वह बच्चे विद्यालय जाने के साथ ही साथ अपनी दैनिक दिनचर्या के कार्य पूर्ण कर लेते हैं। कार्यशाला में बेसिक शिक्षा विभाग के जिला समन्वयक अजीत उपाध्याय, डी0पी0आर0सी0 के प्रबन्धक बृजेश कुमार पाण्डेय सहित परिषदीय विद्यालय के अध्यापकगण, छात्र-छात्राएं एवं उनके अभिभावक गण उपस्थित रहे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.