Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    लखीमपुर खीरी। पसगवां के यूपीएस कन्या को मिला "बेस्ट स्कूल ऑफ वीक" का खिताब।

    .......... पसगवा की आन-बान-शान बना यूपीएस कन्या,विवेक ने दिलाई विद्यालय को अलग पहचान

    शाहनवाज़ गौरी\लखीमपुर खीरी। खीरी में पसगवा ब्लॉक का उच्च प्राथमिक विद्यालय कन्या ने "हमारा विद्यालय हमारी पहचान" की परिकल्पना को साकार किया, जिसपर डीएम महेंद्र बहादुर सिंह की अभिनव पहल "बेस्ट स्कूल ऑफ वीक" मुहिम के लिए यूपीएस कन्या पसगवा चयनित किया गया है। विद्यालय में नामांकित नौनिहालों के भविष्य पर ध्यान केंद्रित कर इं. प्रधानाध्यापक विवेक शर्मा ने अपने साथी शिक्षकों के साथ पूरे जी-जान से शैक्षिक स्तर को बेहतर बनाने में जुटे हैं। परिणाम स्वरूप यह न केवल क्षेत्र का बेहतर विद्यालय बना, बल्कि बेस्ट स्कूल ऑफ द वीक का खिताब अपने नाम दर्ज किया।यूपीएस कन्या पसगवां के इं. प्रधानाध्यापक विवेक ने अपनी कार्यकुशलता से विद्यालय को एक अलग पहचान दी। जो आज निजी विद्यालय से बेहतर काम कर रहा है। 

    प्रधानाध्यापक विवेक को 13 फरवरी 2021 को अंतर्जनपदीय ट्रांसफर के बाद जब विद्यालय में कार्य करने का सुअवसर मिला तो उनके समक्ष गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, विद्यालय में बेहतर परिवेश निर्माण की चुनौतियाँ थीं। शासन की मंशानुरूप काम शुरू करते हुए बेहतरीन बाल पेंटिंग, वाल पेंटिंग के साथ कम्पोजिट ग्रान्ट विवरण, विद्यालय सुरक्षा शपथ, जनवाचन, नवीन विद्यालय प्रबन्ध समिति और अन्य सभी जरूरी पेटिंग कार्य कराए। कक्षा-कक्ष को शिक्षण अधिगम सामग्री से सुसज्जित कर कायाकल्प के सभी पैरामीटर्स पर बेहतरीन कार्य किया।

    जनपद स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिताओं में संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए बच्चों ने संस्कृत में स्वागत गीत प्रस्तुत किया। ब्लॉक से जनपद तक विद्यालय के बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर अनेक मेडल भी प्राप्त किए। आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत विद्यालय को सर्वश्रेष्ठ विद्यालयों मे भी चुना गया। विद्यालय की एक फ़ोटो को NHMUP ने अग्रणी स्थान दिया। विद्यालय में पुस्तकालय का भी निर्माण किया है। 

    "गोल्डन मेमोरीज" पुस्तिका में संकलित विद्यालय के सभी नवाचार

    यूपीएस कन्या में बच्चों की उपस्थिति, ठहराव के लिए गतिविधि आधारित आईसीटी, दीक्षा व रीड अलोंग ऐप का इस्तेमाल करते हुए शिक्षण अधिगम को बेहतर बनाया। विद्यालय के नौनिहाल कान्वेंट स्कूली बच्चों की तरह अग्रेंजी मे अभिव्यक्ति देते हैं। दैनिक योग, नैतिक शिक्षा और सामान्य ज्ञान की विशेष गतिविधियों को संचालित किया है। इन सब गतिविधियों को संकलित भी किया, जिसे गोल्डन मेमोरीज नामक बुकलेट का नाम दिया। इन्ही सब प्रयासों से बच्चों ने ब्लॉक से लेकर जनपद स्तर तक बेहतरीन प्रदर्शन किया। 

    प्रधानाध्यापक विवेक शर्मा बताते हैं कि सकारात्मक सोच, कार्य के प्रति समर्पण और जुनून से सबकुछ सम्भव है। हम विद्यालय के बच्चों को वो माहौल देना चाहते हैं, जो सरकार की वास्तविक मंशा है ताकि बच्चे वैज्ञानिक सोच को अपनाते हुए जीवन मे सफल हो सकें।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.