Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बलिया। मोदी ने गंगा विलास क्रूज़ को हरी झंडी दिखाकर रवाना करने के साथ ही फ्लोटिंग जेटी का किया उद्घाटन।

    बलिया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को सबसे लंबे जलमार्ग पर वाराणसी से डिब्रूगढ़ के लिए गंगा विलास क्रूज और मालवाहक जलयान को वर्चुअली हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने बलिया, गाजीपुर व बिहार में बनी फ्लोटिंग जेटी का बटन दबाकर उद्घाटन किया, जिसका गंगा नदी के हुकुमछपरा गंगापुर घाट से लाइव टेलीकास्ट के जरिये सीधा प्रसारण दिखाया गया। कार्यक्रम में सांसद व विधायक के साथ ही प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।

    सदर तहसील अंतर्गत हुकुमछपरा गंगापुर घाट पर आयोजित समारोह में प्रधानमंत्री वर्चुअल माध्यम से जुड़ेें और हुकुम छपरा गंगापुर घाट तथा गाजीपुर के सैदपुर, चोचकपुर, जमानिया में बनी फ्लोटिंग कम्यूनिटी जेटी का उद्घाटन किये। बिहार में पटना जिले के दीघा, नकटा दियारा, बाढ़, पानापुर और समस्तीपुर जिले के हसनपुर में पांच सामुदायिक घाटों की आधारशिला भी प्रधानमंत्री ने रखी। इसके अलावा प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल में हल्दिया मल्टी मॉडल टर्मिनल व गुवाहाटी में पूर्वोत्तर के लिए समुद्री कौशल विकास केंद्र का भी लोकार्पण किया। प्रधानमंत्री गुवाहाटी में पांडु टर्मिनल में जहाज मरम्मत सुविधा और एलिवेटेड रोड का भी शिलान्यास किया। 

    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से लोगों को संबोधित करते हुए मकर संक्रांति व लोहड़ी की सभी को बधाई दी। कहा कि हमारे त्योहारों में दान, आस्था, तपस्या और आस्था के बीच नदियों की भूमिका महत्वपूर्ण है। यह नदी जलमार्ग से संबंधित परियोजनाओं को और अधिक महत्वपूर्ण बनाता है। बताया कि काशी से डिब्रूगढ़ तक सबसे लंबे रिवर क्रूज को आज हरी झंडी दिखाई जा रही है, जो विश्व पर्यटन मानचित्र पर उत्तर भारत के पर्यटन स्थलों को सामने लाएगा। कहा कि पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश और बिहार, असम में समर्पित की जा रही एक हजार करोड़ रुपये की अन्य परियोजनाएं पूर्वी भारत में पर्यटन और रोजगार की संभावनाओं को बढ़ावा देंगी। प्रधानमंत्री ने प्रत्येक भारतीय के जीवन में गंगा नदी की केंद्रीय भूमिका को भी रेखांकित किया।

    प्रधानमंत्री ने कहा कि रिवर क्रूज में सभी के लिए कुछ न कुछ खास है। आध्यात्मिकता चाहने वालों को काशी, बोधगया, विक्रमशिला, पटना साहिब और माजुली जैसे गंतव्यों को कवर किया जाएगा। एक बहुराष्ट्रीय क्रूज अनुभव की तलाश करने वाले पर्यटकों को बांग्लादेश में ढाका के माध्यम से जाने का अवसर मिलेगा। और जो भारत की प्राकृतिक विविधता को देखना चाहते हैं, उनके लिए सुंदरबन और असम के जंगलों से होकर गुजरेगा। प्रधान मंत्री ने कहा कि इस क्रूज का उन लोगों के लिए महत्वपूर्ण महत्व है, जो भारत की नदी प्रणालियों को समझने में गहरी रुचि रखते हैं। यह उन लोगों के लिए एक सुनहरा अवसर है जो भारत के असंख्य पाक और व्यंजनों का पता लगाना चाहते हैं। प्रधानमंत्री ने क्रूज पर्यटन के नए युग पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इससे देश के युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे।

    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 8 वर्षों में बदलते भारत को दुनिया ने देखा हैं। विगत वर्षों में काशी अपने पुरातन कलेवर को बनाये रखते हुए वैश्विक मंच पर स्थापित हुआ है। वाराणसी में अब पर्यटन और रोजगार में बढ़ोतरी होगी। कहा कि नमामि गंगे योजना के अंतर्गत गंगा को स्वच्छ एवं अविरल किया गया। वाराणसी में यात्री जल परिवहन शुरू होने से लोगों को रोजगार का अवसर मिलेगा। काशी के नाविकों को भी रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए गए हैं। नावों को सीएनजी में तब्दील कराया गया था। यात्री जल परिवहन के माध्यम से काशी में पर्यटन को बढ़ावा मिला है। आज काशी में पर्यटकों के आवक में बेतहाशा वृद्धि हुई है। उपस्थित लोगो ने पीएम मोदी के साथ ही सीएम योगी आदित्यनाथ का भाषण ध्यान पूर्वक सुना। 

    वर्चुअल कार्यक्रम के बाद हुकुमछपरा गंगापुर घाट पर कार्यक्रम के तहत सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त, भाजपा अध्यक्ष जय प्रकाश साहू व भारतीय अंतरदेशीय प्राधिकरण पटना के उप निदेशक अमित कुमार ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित  व सामुदायिक जेटी का फीता काटकर किया। इस दौरान स्थानीय लोगों ने जेटी से होते हुए एनडीआरएफ की मौजूद नावों पर सवारी कर जमकर लुफ्त उठाया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष जय प्रकाश साहू ने कहा कि जल मार्ग की यात्रा रेल मार्ग हवाई मार्ग से सस्ती है। इससे किसानों व व्यापारियों के साथ ही नौजवानों को भी आर्थिक रूप से मजबूत होने का अवसर प्रदान होगा। 

    मुख्य अतिथि सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने कहा कि भारत विकासशील से विकसित देश की ओर बढ़ रहा है। मोदी जी के नेतृत्व में भारत विश्व गुरु बनने की राह पर चल रहा है। सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजनाओं से देश के लोगों को आर्थिक रूप से मजबूती तो मिलेगी ही, रोजगार के भी अवसर प्राप्त होंगे। विदेश के लोग भी हमारी ताकत को समझेंगे। आप जनमानस को उत्तर प्रदेश, बिहार, असम बंगाल होते हुए बांग्लादेश के भी रमणिका स्थान देखने का अवसर प्राप्त होगा। आर्थिक रूप से भारत मजबूत होगा, यही हमारे अर्थ गंगा का मूल मंत्र है। कार्यक्रम में भारतीय अंतरराष्ट्रीय जलमार्ग प्राधिकरण के उपनिदेशक अमित कुमार, उप जिलाधिकारी बैरिया अत्रेय मिश्रा ने इस योजना से होने वाले लाभ को विस्तृत रूप से लोगों को बताया। इस मौके पर क्षेत्रीय विधायक जयप्रकाश अंचल, पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष, विजय बहादुर सिंह, इंजीनियर उत्कर्ष सिंह, तकनीकी सहायक रवि कुमार, अश्वनी ओझा, कन्हैया सिंह, श्याम सुंदर उपाध्याय, सीबी मिश्रा, अयोध्या प्रसाद हिंद, पंडित राज नारायण तिवारी, पंडित कौशल किशोर पांडे आदि लोग मौजूद रहे। संचालन इंद्र कुमार ओझा ने किया। कार्यक्रम प्रभारी भारतीय अंतर्देशीय जल प्राधिकरण पटना के पर्यावरण अधिकारी रितेश मिश्रा ने सभी आगंतुकों का आभार प्रकट किया।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.