Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    वाराणसी। मकर संक्रांति पर्व पर श्रद्धालुओं ने गंगा लगाई में आस्था की डुबकी।

    ............ स्नानार्थियों की भीड़ को देखते हुवे गोदौलिया से मैदागिन किया गया नो वेहिकल जोन

    वाराणसी। सूर्य के उत्तरायण होने के बाद उदया तिथि में रविवार को मकर संक्रांति का पर्व धूम-धाम से काशी में मनाया गया। गंगा स्नान के लिए गंगा घाटों पर आस्था का जन सैलाब उमड़ पड़ा। राजघाट से लेकर सामनेघाट तक लोगों ने भागीरथी की अविरल धारा में डुबकी लगाई। खासतौर से दशाश्वमेध घाट, पंचगंगा व अस्सी घाट पर स्थानार्थियों की भीड़ अधिक रही। लोगों ने स्नान के बाद पंडा-पुरोहितों व गरीबों को दान दिया। गंगा स्नान के लिए भोर से ही श्रद्धालु घाटों पर पहुंचने लगे। भोर में चार बजे से ही गंगा स्नान का क्रम शुरू हो गया। लोगों ने आस्था की डुबकी लगाकर अपने पाप धोए। 

    इसके बाद घाटों पर मौजूद पंडों, पुरोहितों व गरीबों को अन्न, द्रव्य का दान दिया। स्नान का क्रम पूरे दिन चलेगा। सूर्यास्त तक आस्थावान श्रद्धालु गंगा स्नान करेंगे। सूर्य के उत्तरायण होने के साथ ही खरमास समाप्त हो गया और सभी शुभ कार्य शुरू हो गए। मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी, उड़द की दाल के दान का विशेष महत्व होता है। मकर संक्रांति को लेकर पुलिस प्रशासन भी अलर्ट रहा। घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहे। घाटों की सीढ़ियों पर बैरिकेडिंग की गई थी। वहीं एनडीआरएफ व जलपुलिस भी सक्रिय नजर आई। लोगों को गहरे पानी में न जाने के लिए सचेत करने को बोर्ड लगाए गए थे। वहीं लाउड स्पीकर के जरिये भी लोगों को सचेत किया गया। स्नानार्थियों की भीड़ को देखते हुए गोदौलिया से मैदागीन तक वाहनों का आवागमन रोक दिया गया है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.