Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    वाराणसी। काशी विश्व की सांस्कृतिक एवं आध्यात्मिक राजधानी के रूप में है विख्यात : मुख्यमंत्री

    • काशी कल से नए युग के लिए प्रस्थान करने जा रही है : सीएम योगी
    • प्रधानमंत्री ने यह सौगात काशी के साथ-साथ उत्तर प्रदेश को लोगों को दी गई है : मुख्यमंत्री

    वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि काशी विश्व की सांस्कृतिक एवं आध्यात्मिक राजधानी के रूप में विख्यात हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में काशी अपनी पुरातन आत्मा को बनाए रखते हुए वैश्विक मंच पर स्थापित हुआ है। काशी थल और नभ के साथ-साथ अब जल मार्ग से भी जुड़ने जा रहा है। उन्होंने कहा कि काशी कल से नए युग के लिए प्रस्थान करने जा रही है। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि यह प्रसन्नता की बात हैं कि विश्व की सबसे बड़ी यात्री क्रूज गंगा विलास को शुक्रवार को प्रधानमंत्री हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दो दिवसीय दौरे पर गुरुवार को श्री काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर परिसर के चौक में शुक्रवार को वाराणसी जनपद से दुनिया के सबसे लंबे रिवर क्रूज एमवी गंगा विलास को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 13 जनवरी शुक्रवार को हरी दिखाकर रवाना करने व गंगा पार रेती में बनाये गये टेंट सिटी के उद्घाटन अवसर की पूर्व संध्या पर आयोजित शंकर महादेवन के सांस्कृतिक कार्यक्रम (कर्टन रेजर) में मुख्य अतिथि के रूप में लोगो को सम्बोधित कर रहे थे। 

    उन्होंने कहा कि काशी से हल्दिया तक विगत तीन वर्ष पूर्व हुई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जल परिवहन की शुरुआत की जा चुकी है। अब यात्री सेवा के साथ ही कार्गो सेवा भी काशी से प्रारंभ होगा। प्रधानमंतत्रि ने यह सौगात काशी के साथ-साथ उत्तर प्रदेश को लोगों को दी है। उन्होंने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े यात्री क्रूज गंगा विलास से यात्रा पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ ही साथ जहां रोमांचकारी है। उन्होंने बताया कि क्रूज गंगा विलास भारत में वाराणसी से रवाना होकर पांच राज्यों में 27 नदी प्रणालियों में 3,200 किमी से अधिक की दूरी तय करके अंतः डिब्रूगढ़ तक सफर करेगा। केंद्रीय कैबिनेट मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने भी लोगों को संबोधित करते हुए काशी से शुरू हो रहे यात्री जल परिवहन पर प्रकाश डाला।

    कार्यक्रम में केंद्रीय कैबिनेट मंत्री सर्बानंद सोनोवाल एवं केंद्रीय राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति के साथ ही उत्तर प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन मंत्री अनिल राजभर, स्टांप एवं पंजीयन शुल्क राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविन्द्र जायसवाल, आयुष एवं खाद्य सुरक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दयाशंकर मिश्र 'दयालु', पूर्व मंत्री एवं विधायक डॉक्टर नीलकंठ तिवारी, विधायक डॉ अवधेश सिंह सहित गणमान्य लोग उपस्थित रहे।इस दौरान शंकर महादेवन ने शिव तांडव, गंगा अवतरण, शिव भोला भंडारी आदि अनेकों भजन प्रस्तुत किए। जिससे बाबा के भक्त मंत्रमुग्ध होते रहे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.