Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सम्भल। सांसद पौत्र का विधायक इकबाल महमूद पर करारा प्रहार।

     उवैस दानिश, 

    • किसी अन्य पार्टी से चुनाव लड़कर दिखाएं विधायक, पता चल जाएगी हैसियत, किसी दूसरी चीज के भी शौकीन है विधायक, होशो हवास में नहीं रहते। 

    सम्भल। सपा विधायक नवाब इक़बाल महमूद द्वारा सपा सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क पर प्रहार करने का सांसद पौत्र सपा कुंदरकी विधायक जिया उर्रहमान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर विधायक नवाब इक़बाल महमूद को करारा जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि 15 तारीख को मायावती के जन्मदिन पर सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने मायावती की तारीफ की थी, मगर समाजवादी पार्टी के खिलाफ कोई कटाक्ष नहीं किया था। डॉ.  बर्क समाजवादी पार्टी के सांसद और समाजवादी पार्टी के लिए ही काम कर रहे हैं। बर्क पर उँगली उठाने वाले की इतनी हैसियत नहीं है कि वह उनकी बराबरी कर सकें। इक़बाल महमूद 6-7 बार विधायक अपने दम पर नहीं, बल्कि समाजवादी पार्टी के दम पर बने हैं। यहां की जनता उन्हें समाजवादी पार्टी के नाम पर ही वोट देती है। अपने गिरेबान में झांक ले कि वह किसी दूसरी चीज के भी शौकीन है। 

    जियाउर्रहमान, सपा विधायक, कुंदरकी

    जब भी उनका इंटरव्यू करने जाएं तो देख लें वो अपने होशो हवास में है या नहीं। विधायक इक़बाल महमूद ने कहा था कि मुसलमानों ने सांसद डॉ बर्क को नकार दिया है। कुंदरकी विधायक ने कहा कि मैं सोचता हूं कि आपको अपने दिमाग का इलाज कराना चाहिए मुसलमानों ने नकारा होता तो लोकसभा से ऐतिहासिक जीत दर्ज नही करते। सांसद डॉ बर्क का बसपा में जाने का कोई इरादा नहीं है। विधायक इक़बाल महमूद अधिकारियों ओर नेताओं की भी चापलूसी करते हैं। उन्होंने कहा कि सांसद डॉ बर्क की उम्र 94 साल है तो दो-तीन लोग उठा रहे हैं। ऐसा न हो के विधायक इक़बाल महमूद को एक ही बार में चार लोग उठाएं। अखिलेश यादव को ब्लैकमेल करने की कोई बात नहीं है, क्योंकि अभी चुनाव नजदीक नहीं है शायद विधायक इक़बाल महमूद को ख्वाब में आया हो। सांसद डॉक्टर वर्क समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्यों में से हैं विधायक नवाब इकबाल महमूद ने हमेशा समाजवादी पार्टी के खिलाफ सम्भल में चुनाव लड़ाया है। यह समाजवादी पार्टी के हमदर्द नहीं है यह अपनी कुर्सी हासिल करने के लिए किसी भी मुकाम तक जा सकते हैं। अगर विधायक इसी तरह सांसद पर टिप्पणी करते रहे तो ऐसा न हो कि सम्भल की आवाम उनका विरोध करें। डॉ बर्क की वजह से ही मैं कुंदरकी का चुनाव ऐतिहासिक वोटों से जीता। जहां गोली से काम चलता है वहां गोली से काम चलाया जाता है, तो वहां तोप चलाने की क्या ज़रूरत है। विधायक की हैसियत मेरे तक ही सीमित है सांसद डॉक्टर बर्क तक नहीं। विधायक नवाब इक़बाल महमूद दूसरी पार्टी से चुनाव लड़कर दिखाएं उन्हें अपनी हैसियत का पता चल जाएगा कि वह पार्टी की वजह से कामयाब हो रहे हैं या उनका कोई खुद का भी वजूद है। कुंदरकी विधायक ने आगे कह कि मै 2017 में एआईएमआईएम से चुनाव लड़ा था मगर आज मैं समाजवादी पार्टी का एक वफादार सिपाही हूं और पार्टी के लिए वफादारी के साथ काम कर रहा हूं। अखिलेश यादव में प्रदेश व देश को चलाने की काबलियत है। हम उनके साथ है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.