Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। अयोध्या में कड़ाके की ठंड, तापमान में गिरावट, कोहरा व धुंध जारी।

    • ठंड से बचने के लिए जैकेट और टोपी,आम लोगों के लिए अलाव ही एक सहारा
    • ठंड के मौसम में रजाई का सहारा पीछे छूट गया, कंबल का सहारा आगे आ गया
    देव बक्स वर्मा\अयोध्या। धर्म नगरी अयोध्या में  आज का दिन और रात सबसे ठंडा  महसूस किया गया  लोगों को  अलाव ही एक सहारा दिखाई पड़ रहा है  आम लोग जैकेट पहनकर  टोपी व मफलर का सहारा ले रहे हैं  आम घरों में देखा जा रहा है कि  रजाई को छोड़कर लोग कंबल का सहारा ज्यादा ले रहे हैं। दिसंबर का महीना बीत रहा है! अब तक ऐसा महसूस हो रहा था कि ठंडक नहीं पड़ेगी किंतु दिसंबर के आखिरी दिनों में आज देखा गया कि इस सत्र का सबसे ठंडा दिन लग रहा है! सुबह कोहरा, दिनभर सूर्य के दर्शन नहीं हुए, तापमान में काफी गिरावट, सुरीली हवाओं ने ठंड को और बढ़ा दिया है। 

    बताया गया कि पहाड़ी क्षेत्र में हो रही बर्फबारी की वजह से पूरे उत्तर प्रदेश में ठंड ने हाहाकार मचा दी है!  देर रात राम नगरी अयोध्या में ठंड हवा ने धड़कन और बढ़ा दी! न्यूनतम तापमान  4 डिग्री तक गिर गया! ऐसे में लोग हल्की हल्की ठंडी हवाओं के जकड़न से बचने के लिए अपने घरों में कैद हैं, जिसके चलते बाजारों में भी चहल-पहल कम हो गई है। मंदिरों  के शहर अयोध्या में लोग कड़ाके की ठंड से बचने के लिए जैकेट और टोपी अपने अलमारी से बाहर निकाल लिए हैं, कोई अलाव जला रहा है तो कोई कंबल में बैठकर बचने की व्यवस्था कर रहा है! लेकिन राम नगरी में चारों तरफ ठंड हवाओं की वजह से लोग अपने घरों में कैद है। 

    इसके अलावा देखा गया कि पहले लोग ठंड से बचने के लिए रजाई खूब बनवाते थे किंतु अब रजाई  को दूर करके कंबल का खरीददारी ज्यादा कर रहे हैं और कंबल का प्रयोग ज्यादा कर रहे हैं! लगता है कि रजाई का जमाना अब बहुत पीछे छूट गया है! इतना ही नहीं बड़े लोग ब्लोअर हीटर का सहारा ले रहे हैं! तो आम लोग, गरीब लोग अलाव का सहारा ले रहे हैं! शाम होते ही मध्यम वर्ग के लोग रजाई व कंबल में  चले जाते हैं किंतु बड़े लोग  ब्लोअरऔर हीटर का सहारा लेकर ऐस की जिंदगी जी रहे हैं! यदि देखा जाए तो लकड़ी जलाकर हाथ सेकना, लकड़ी से खाना बनाना ज्यादा अच्छा माना जाता है! लकड़ी से बने हुए भोजन स्वादिष्ट ज्यादा होते हैं! लकड़ी के आग से गर्मी का सहारा लेना लाभदायक होता है! किंतु ब्लोर की गर्मी से हानिकारक होता है और गैस का भोजन आम लोगों में गैस ही पैदा कर देता है! ऐसे में लोगों को अपने पुराने ढर्रे को अपनाना ही ज्यादा हितकर होगा। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.