Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पलवल। पलवल मिल को सुचारू रूप से चलाने का दिया आश्वाशन।

    पलवल  से ऋषि भारद्वाज की रिपोर्ट

    पलवल। सहकारी चीनी मिल को सुचारू रूप से चलाने की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा संचालित धरना स्थगित कर दिया गया। सोमवार को सुचारू रूप से मिल को चलाने के प्रबंध निदेशक शशि वसुंधरा के आश्वासन के बाद धरने को स्थगित करने का निर्णय लिया गया। धरने को स्थगित करते हुए किसानों ने यह चेतावनी भी दी है कि अगर मिल सुचारू रूप से नहीं चलती है। तो वह मिल परिसर में दोबारा से अनिश्चितकालीन धरना देने को मजबूर होंगे।

    इस दौरान किसानों ने गन्ना किसानों की अन्य मांगों को लेकर प्रबंध निदेशक को ज्ञापन सौंपा। निदेशक ने मांगों को जल्द पूरा करने का आश्वासन दिया। जिसके बाद धरना स्थगित कर दिया गया। किसान नेता महेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि करीब 2 माह से संयुक्त किसान मोर्चा पलवल जिला प्रशासन से मिल का पेराई सत्र शुरू करने की अपील कर रहा था। परंतु प्रशासन ने उनकी मांगों को गंभीरता से नहीं लिया। किसानों के बार - बार ज्ञापन सौंपने व 3 दिसंबर से आंदोलन की घोषणा करने के बाद 2 दिसंबर को मिल को बिना इंतजाम पूरे किए शुरू कर दिया गया। सहकारिता मंत्री डॉक्टर बनवारीलाल ने मिल के पेराई सत्र का शुभारंभ किया। परंतु उनके जाते ही मिल बंद हो गई। उसके बाद कई बार मिल को चलाने का प्रयास किया गया। परंतु मिल शुरू नहीं हो पाई। सँयुक्त किसान मोर्चा पलवल ने मिल को सुचारू रूप से चलाने की मांग को लेकर 3 दिसंबर को मिल परिसर में धरना शुरू कर दिया। किसानों के 3 दिन और दो रातों के धरने के बाद रविवार रात को मील को शुरू कर दिया गया। सोमवार शाम तक मिल सुचारू रूप से चल रही थी। सोमवार को मिल की प्रबंध निदेशक शशि वसुंधरा धरना स्थल पर पहुंची और मिल को सुचारू रूप से चलाने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा मिल की तकनीकी खामियों को ठीक कर दिया गया है। अब मिल सुचारू रूप से चलेगी। उन्होंने किसानों से धरना समाप्त करने की अपील की। जिस पर किसानों ने भी सर्व समिति से धरने को स्थगित करने का निर्णय लिया। इस अवसर पर किसानों ने प्रबंध निदेशक को अपनी 11 सूत्रीय मांगों का लेकर ज्ञापन भी सौंपा। निदेशक ने सभी मांगों को शीघ्र पूरा करने का आश्वासन दिया।

    महेंद्र सिंह चौहान, किसान नेता


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.