Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    नैमिषारण्य\सीतापुर। प्रभात फेरी के साथ शुरू हुआ तीन दिवसीय नैमिष संस्कृत महोत्सव।

    नैमिषारण्य\सीतापुर। नैमिष तीर्थ की पावन नगरी में गुरुवार को तीन दिवसीय संस्कृत सम्मेलन शुरू हो गया । जिसमें तीन दिनों संस्कृति की उन्नति के लिए विभिन्न चर्चा सत्र आयोजित किए जाएंगे। यह कार्यक्रम नारादानंद आश्रम स्थित अध्यात्म विद्यापीठ में आयोजित किया जा रहा है। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रभात फेरी के द्वारा लिया गया जिसमें नैमिष के संस्कृत विद्यालय सहित अन्य विद्यालय के लगभग आठ सौ से अधिक ब्रह्मचारी व विद्यार्थियों ने प्रतिभाग किया। उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता स्वामी उपेंद्रानंद सरस्वती ने की, जिसमें वैदिक मंगलाचरण छात्रों द्वारा प्रस्तुत किया गया। इसके पश्चात अध्यात्म विद्यापीठ के प्राचार्य एवं मुख्य आयोजक हरिओम शुक्ल के द्वारा समस्त अतिथियों का माल्यार्पण कर स्वागत किया गया । आचार्य हरिओम शुक्ला ने विषयोस्थापन करते हुए बताया कि यह नैमिष संस्कृत महोत्सव नैमिषारण्य में प्रथम बार आयोजित किया गया है जो 29 दिसंबर से 31 दिसंबर तक चलेगा जिसमें समस्त विद्यालयों के  विद्यार्थियों के प्रतिभाग में विभिन्न संस्कृत प्रतियोगिताएं आयोजित होंगी। 

    मुख्य वक्ता संस्कृत भारती के प्रांतीय अधिकारी डॉ ओमकार नारायण भारद्वाज द्वारा समस्त संस्कृत अनुरागीयों संस्कृत संस्थान पाठशाला को संस्कृत के लिए एक मंच पर आने का आह्वान करते हुए कहा कि  आगामी जनगणना में सभी को अपनी मातृभाषा संस्कृत लिखनी चाहिए जिससे सरकार भी संस्कृत के अनुकूल योजना बनाने के लिए बाध्य हो । इस मौके पर लखनऊ मंडल के संस्कृत पाठशाला निरीक्षक माधव राज त्रिपाठी, बजरंग मुनि, सत्यदेव पांडे जी ने भी अपने विचार प्रस्तुत किए । कार्यक्रम में शिव मूर्ति लाल मिश्र, शैलेंद्र पांडे, श्रवण कुमार शास्त्री आदि जन मौजूद रहे। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.