Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सीतापुर। धूमधाम से मनाया गया गुरु नानक देव प्रकाश पर्व।

    सीतापुर। सिख धर्म के पहले गुरू साहेब श्री गुरुनानक देव जी का प्रकाश पर्व श्री गुरू सिंघ सभा सीतापुर के तत्वावधान में गुरुनानक नगर सीतापुर में अत्यंत हर्षाेल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। भाई कुलवंत सिंघ का रागी जत्था तथा भाई कश्मीर सिंघ कोयल का वीर रस कीर्तन जत्था पंजाब से आया है। गुरुद्वारा प्रबंधक सरदार सतनाम सिंध ने बताया कि जन्म सन 1469 में राम भोऐ की तलवंडी नानकाना साहेब मे हुआ बचपन से आडंबर के विरुद्ध थे। गुरुनानक ने नारी को बहुत ऊंचा दर्जा दिया। उनकी वाणी कहती है सो क्यों मंदा आइये जित जन्में राजांण अर्थात उस नारी को बुरा कैसे कह सकते हैं जो राजा को जन्म देती है। गुरु नानक देव के प्रकाश पर्व पर गुरुनानक नगर स्थित गुरुद्वारे में गुरुद्वारा कमेटी के द्वारा वहां आए हुए सभी श्रद्धालुओं के लिए जलेबी चाय पकौड़ी आदि का इंतजाम गुरुद्वारा कमेटी की तरह कराया गया साथ ही साथ निशुल्क हेल्थ चेकअप का कैंप का भी आयोजन गुरुद्वारा कमेटी के द्वारा किया गया। साथ ही साथ लोगों को हरियाली के लिए प्रेरित करने के लिए वहां आए हुए सिख समाज के लोगों को गुरुद्वारा कमेटी के पदाधिकारियों द्वारा विभिन्न प्रकार के पौधे उपलब्ध कराए गए संवत कीर्तन के उपरांत गुरुद्वारा प्रांगण हाल में विशाल लंगर का आयोजन किया गया जिसमें सैकड़ों की तादाद में लोगों ने लंगर में भोजन ग्रहण किया। सतनाम सिंघ अध्यक्ष गुरू सिंघ सभा व रजिंदर पाल कौर अध्यक्ष प्रबंधक कमेटी गुरूद्वारा गुरुनानक नगर ने अपन उदभोदन में आई संगत का धन्यवाद किया। कार्यक्रम का संचालन स हरदीप सिंघ ने किया।

    महमूदाबाद संवाददाता के अनुसार कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर सिक्ख धर्म के संस्थापक गुरु नानक की 553वीं जयंती कस्बे के गुरुद्वारे में धूमधाम से मनाई गई। करीब दो दर्जन लोगों को सरोपा पहनाकर स्वागत किया गया। सुबह से शाम तक लंगर चलता रहा। कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर मंगलवार को महमूदाबाद गुरुद्वारा प्रबंधक बाबा काला सिंह, पुजारी विक्रम जीत सिंह ग्रंथी जगजीत सिंह ने गुरुद्वारे पहुंचे मां संकटा देवी मंदिर प्रबंध समिति अध्यक्ष आरके वाजपेयी, सीओ रवि शंकर प्रसाद, सीओ ट्रेनी शोभित कुमार, कोतवाल विजयेंद्र सिंह, सेठ राम गुलाम पटेल मेमोरियल ट्रस्ट के संरक्षक डॉ. हरीश चंद्रा, आनंद सिंह, सीपी तिवारी, अतुल वर्मा, अम्बरीश गुप्त, मोहन प्रसाद बारी, अतुल चित्रांश, केके सिंह, चक्र सुदर्शन पांडेय का सरोपा पहनाकर स्वागत किया गया। स्वागत के पश्चात सभी अतिथियों ने गुरूद्वारे में पवित्र गुरू ग्रंथ साहिब पर मत्था टेकते हुये लंगर छका। इस मौके पर सरदार जसपाल सिंह, प्रताप सिंह, हरभजन सिंह, राजू सिंह, सतनाम सिंह, लकी मलहोत्रा, विशाल गुप्त, रवि अवस्थी, प्रदीप सिंह सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.