Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    श्रावस्ती। कोटेदार गरीबों के हक पर डाल रहा डाका कर रहा जमकर भ्रष्टाचार,शिकायत के बाद भी जिम्मेदार कुंभकर्णी नींद में।

    रिपोर्ट: सर्वजीत सिंह 

    ....... बाढ़ से फसलें हुई तबाह,सरकारी राशन में जमकर घटतौली के साथ हो रही ओवररेटिंग। 

    श्रावस्ती। यूपी के जनपद श्रावस्ती में बीते दिनों बाढ़ ने एक तिहाई जिलेवासियों के फसलों को बर्बाद कर दिया।जिससे गरीब तबके के लोगो के पेट में जाने वाले निवाले के लाले पड़ गए।फिर भी गनीमत है कि सरकारी राशन से किसी तरह लोग अपनी पेट भरते है।लेकिन गरीबों को सरकार द्वारा दिए जा रहे राशन में भी भ्रष्टाचार का जमकर खेल किया जा रहा।इकौना के ग्राम पंचायत कोलाभार मजगवा के एक दर्जन से अधिक राशन कार्ड धारकों ने उच्चाधिकारियों को शपथ पत्र देकर कोटेदार पर घटतौली के साथ कम राशन और ओवररेटिंग का गंभीर आरोप लगाया है।लेकिन शिकायत के बाद भी जिम्मेदारों के कान में अभी तक जू तक नही रेंगी और न ही कोई कार्यवाही की गई है।वही पहले किए गए ऑनलाइन शिकायत के बाद जांच करने गए अधिकारी ने राशन डीलर पर घटतौली करने की रिपोर्ट विभागीय अधिकारी को भेज दी ,फिर भी भ्रष्ट कोटेदार पर किसी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की गई।वही पुनःदर्जनों राशन कार्डधारकों ने उच्चाधिकारियों को शिकायती शपथ पत्र देकर कोटेदार पर कार्यवाही की मांग की है।

    गरीब राशन कार्डधारक

    मामला श्रावस्ती के विकास खंड इकौना अंतर्गत ग्राम पंचायत कोलाभार मजगवा का है जहा राशन डीलर द्वारा गरीबों के हक पर डाका डाला जा रहा है और सरकारी राशन में जमकर भ्रष्टाचार के काले कारनामे को अंजाम दिया जा रहा।एक दर्जन से अधिक राशन कार्डधारकों ने उच्चाधिकारियों को शपथपत्र देकर आरोप लगाया है कि अंत्योदय कार्ड धारकों को मिलने वाले 35 किलो राशन में घटतौली कर 33–34 किलो और 90 रुपए के बजाय 100 रुपए लिया जाता है इसके साथ ही पात्र गृहस्थी कार्डधारको के हर यूनिट पर 1 किलो राशन कम और मानक से अधिक पैसे लिया जाता और विरोध करने पर कोटेदार अभद्रदाता के साथ गाली गलौज करता और राशन न देने की धमकी देकर भगा देता है।

    वही इस मामले में ग्राम पंचायत प्रधान प्रतिनिधि ने बताया कि कई बार शिकायत के बाद भी कोटेदार पर कोई कार्यवाही नहीं की गई।सप्लाई इंस्पेक्टर से शिकायत करने जाने पर जलील कर भागा दिया गया।जिसके बाद ग्रामीणों के साथ उच्चाधिकारियों को शिकायती शपथ पत्र दिया गया लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई।वही पीड़ित कार्डधारक ग्रामीणों ने बताया कि बाढ़ ने हम गरीबों पर कहर बरपाया जिससे हमारी फसलें बर्बाद हो गई और भुखमरी के कगार पर आ गए।वही सरकार से मिलने वाले सरकारी राशन पर कोटेदार ने कब्जा जमा रखा है। हर महीने कोटेदार घटतौली कर कम राशन देता है और मानक से अधिक पैसे भी लेता जिसके लिए कई बार शिकायत किया गया लेकिन कोई हम गरीबों का सुनने वाला अधिकारी नही आया।फिलहाल दर्जन भर कार्डधारक ग्रामीणों ने फिर से उच्चाधिकारियों को शिकायती शपथ पत्र देकर जांच कर कोटेदार पर ठोस कार्यवाही की मांग की है।

    ग्राम प्रधानप्रतिनिधि

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.