Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। रानी लक्ष्मीबाई की जयंती मनाई गई।

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। ब्राह्मण जागरूकता समिति के तत्वाधान में केशवपुरम में झांसी की रानी लक्ष्मीबाई  का जयंती मनाया गया  समिति के द्वारा महिलाओं को आत्मनिर्भर ओर स्वावलंबी होने की सलाह दी गई समिति के अध्यक्ष अभय दुबे ने झांसी की रानी  के चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्प अर्पित करने के बाद  बताया कि महारानी लक्ष्मीबाई का जन्म काशी में 19 नवंबर 1835 को एक मराठी ब्राह्मण परिवार में  हुआ था । 

    इनके पिता मोरोपंत ताम्बे चिकनाजी अप्पा के आश्रित थे। इनकी माता का नाम भागीरथी बाई था। महारानी के पितामह बलवंत राव के बाजीराव पेशवा की सेना में सेनानायक होने के कारण मोरोपंत पर भी पेशवा की कृपा रहने लगी। लक्ष्मीबाई अपने बाल्यकाल में मनुबाई के नाम से जानी जाती थीं।18 जून 1858 को ग्वालियर का अंतिम युद्ध हुआ और रानी ने अपनी सेना का कुशल नेतृत्व किया। वे घायल हो गईं और अंततः उन्होंने वीरगति प्राप्त की। कार्यक्रम में मुख्य रूप से अभय दुबे,अनुज तिवारी, उपमा द्विवेदी,शिवानी शर्मा, लक्ष्मीकांत अग्निहोत्री, विपिन मिश्रा,अनुग्रह त्रिपाठी,दिव्यांशु बाजपेई,नवनीत शुक्ला इत्यादि लोग रहे। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.