Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। आयोजित हुआ दूसरा सालाना जलसा ए यौमे आबरूए अहले सुन्नत।

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। अपने निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार स्व० शहर क़ाज़ी मौलाना मोहम्मद आलम रज़ा खान नूरी का दूसरा सालाना जलसा ए यौमे आबरूए अहले सुन्नत ओमपुरवा चकेरी रोड़ कानपुर में शहर क़ाज़ी कानपुर मौलाना मुफ्ती मोहम्मद साकिब अदीब मिस्बाही की अध्यक्षता में अपनी पूर्व परम्पराओं के साथ आयोजित हुआ जिसकी सरपरस्ती मौलाना मुफ्ती हसीब अख्तर शाहिदी व मौलाना अनीसुर रहमान नूरी ने किया। मुख्य वक्ता मौलाना मुफ्ती रफीक आलम बहराइची ने सम्बोधित करते हुए कहा कि पैग़म्बरे इस्लाम ने दुनिया में आला अख्लाक पेश किया है मगर आज मुसलमान अपनी तहजीब भूल गया है और राह से भटक गया है झूठ चुगलखोरी बेहयाई फरेब तकब्बुर जैसी बड़ी बुराईयों आज मुसलमानों में आम हो गई है जिसके कारण न हमारी दुनिया अच्छी है और न आखिरत। 

    मौलाना मुफ्ती हनीफ बरकाती ने कहा कि जो कौम अपना इतिहास और और अपने रहनुमाओं को याद करना भूल जाती है जमाना उसे भुला देता है आज हम अजीम रहनुमा और काइद हजरत अल्लामा मौलाना मोहम्मद आलम रज़ा खान नूरी के सालाना जलसे के मौके पर उन्हें खिराज पेश करने के लिए जमा हुए हैं यकीनन उनकी कुर्बानियां इस शहर के लिए बेमिसाल है जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता वह आज भी हमारे दिलों में जिंदा है और हमें रौशनी दिखा रहे हैं।

    अल्लामा मुफ्ती रफी अहमद निजामी ने कहा कि हमें जरुरत है कि हम काइदे मिल्लत मौलाना आलम रज़ा खां नूरी के बताए रास्तों पर चलते हुए उनके मिशने मोहब्बत को आम करें मोहब्बत भाईचारा सद्भाव की मुहिम चलाए और शहर में एक अच्छा वातावरण स्थापित रहे इसके लिए सदैव तत्पर एवं प्रयासरत रहें तभी हम उन्हें सच्ची खिराज पेश कर सकते हैं। मौलाना क़ासिम हबीबी बरकाती, कलीम दानिश बरकाती, शादाब रजा रजधान्वी ने नातों मनक़बत पेश किया।

    इससे पहले कार्यक्रम की शुरूआत कुरआने पाक से कारी अनस अजहरी ने किया संचालन कारी आसिफ रजा हबीबी ने किया। प्रोग्राम ऑर्गेनाइजर नायब शहर काजी कारी मोहम्मद सगीर आलम हबीबी ने मेहमानों का शुक्रिया अदा किया।

    •  काजी ए शहर कानपुर की दुआ पर कान्फ्रेंस खत्म हुई 

    उसके बाद मजार स्थित ओम पुरवा कब्रिस्तान में कुरान खानी चादर पोशी व ईसाले सवाब किया गया दुआ अल्लामा सैयद अजीमुद्दीन ने फरमाई। इस मौके पर खास तौर से क़ाज़ी ए शहर कानपुर अल्लामा मुफ्ती मोहम्मद साकिब अदीब मिस्बाही, नायब काजी ए शहर कारी मोहम्मद सगीर आलम हबीबी, कारी अब्दुल मुत्तलिब कादरी, मुफ्ती रफीकुल इस्लाम नूरी, मौलाना असगर अली यार अल्वी, मौलाना सैयद जकरिया अशरफी, शौकत अली पहलवान, मौलाना गुलाम मुस्तफा रजवी, मौलाना अलीशेर खां, नईम अख्तर फिरोजाबादी, मौलाना जुल्फिकार,महबूब आलम खान अख्लाक अहमद डेविड चिश्ती, इस्लाम खां आजाद आदि लोग मुख्य रूप से उपस्थित थे। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.