Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। जीएसटी सचल दल के अधिकारियों पर व्यापारियों ने लगाया उत्पीड़न का आरोप, प्रपत्र पूरे गाड़ी गंतव्य पर खड़ी टारगेट पूरा करने के लिए ले गए गाड़ी।

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। जीएसटी सचल दल बेलगाम हो गया है उसे टारगेट पूरा करने के आगे सही गलत में अंतर नज़र नही आ रहा है सचल दल टारगेट पूरा करने के लिए व्यापारी की खड़ी गाड़ी गंतव्य से ले आया जबकि व्यापारी गाड़ी के सारे प्रपत्र दिखाता रहा लेकिन सचल दल ने व्यापारी की एक नही सुनी लिहाज़ा व्यापारियों ने जीएसटी विभाग के आलाधिकारियों से बेलगाम हो चुके सचल दल की शिकायत की तो जीएसटी विभाग के आलाधिकारियों ने गलत तरीके से पकड़ कर लायी गयी गाड़ी को रिलीज करने के आदेश दिए। 

    जीएसटी विभाग के अधिकारी टारगेट पूरा करने के लिए व्यापारियों का किस तरह शोषण करते है इस बानगी कानपुर में देखने को मिली दरअसल व्यापारी की फैक्ट्री में गाड़ी खड़ी थी जीएसटी विभाग का सचल दल फैक्ट्री के अंदर पहुच गया और फैक्ट्री में खड़ी गाड़ी जीएसटी कार्यालय के यार्ड में लाकर खड़ी कर दी व्यापारी गाड़ी के सारे प्रपत्र दिखाता रहा गाड़ी खींच कर ले जाने की वजह पूछता रहा सचल दल के आगे गिड़गिड़ाता रहा लेकिन सचल दल के अधिकारियों ने एक नही सुनी सचल दल के कारगुज़ारी देख कर व्यापारियों में आक्रोश पैदा हो गया लिहाज़ा व्यापारी संगठन के नेता सहित व्यापारी जीएसटी विभाग पहुच गए और जीएसटी विभाग के आलाधिकारी से सचल दल की शिकायत की सचल दल की कारगुज़ारी बयान की। 

    हमने जीएसटी विभाग के आलाधिकारी से बात की तो उन्होंने भी स्वीकार किया कि सचल दल गलत तरीके से पकड़ कर गाड़ी ले आया था व्यापारी आए थे व्यापारियों का आरोप था कि सचल दल व्यापारियों का शोषण कर रहा है पूरा मामला सुनने और समझने के बाद गलत तरीके से पकड़ कर लायी गयी गाड़ी को छोड़ने के आदेश दे दिए है। 

    जीएसटी विभाग के सचल दल की कारगुज़ारी को लेकर कई सवाल उठते है जब व्यापारी ने गाड़ी के सारे प्रपत्र दिखा दिए थे तो सचल दल गाड़ी पकड़ कर क्यो ले गया और अगर सचल दल ने गाड़ी सही पकड़ी  तो जीएसटी विभाग के आलाधिकारी ने गाड़ी छोड़ने का आदेश क्यो दिया क्या सचल दल टारगेट पूरा करने के लिए व्यापारियों का ऐसे ही शोषण करता रहेगा। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.