Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बाराबंकी। भारत, पाक और बांग्लादेश का महासंघ वक्त की आवाज़: मोहसिना क़िदवाई

    .......... पूर्व केन्द्रीय मंत्री मोहसिना किदवाई को मिला 'लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड'

    बाराबंकी। भारत, पाक और बांग्लादेश का महासंघ वक्त की आवाज़ है। अगर हिंदुस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश का महासंघ बन जाए, तो उससे मज़बूत देश कोई हो नहीं सकता है। राजनाथ शर्मा ने बहुत अच्छी तहरीक शुरू की है। उनका यह प्रयास पिछले पांच दशकों से जारी है कि हम सब एक रहें। इस तहरीक को जारी रखने का फ़र्ज हम सभी का है। इस तहरीक में बहुत दम है। यह तहरीक यदि आगे बढ़ेगी तो इसके समर्थन में लोग आएंगे। और उस समर्थन से राजनाथ शर्मा का हौसला और हिम्मत बढ़ेगी। हम सबको भी उसका लाभ मिलेगा। 

    यह बात गांधी भवन में प्रख्यात कांग्रेस नेत्री एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीमती मोहसिना किदवाई ने गांधी जयन्ती समारोह टस्ट द्वारा आयोजित अभिनंदन समारोह के दौरान की। इस मौके पर उन्होंने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर मार्ल्यापण उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। गांधी भवन प्रथम आगमन पर गांधी जयन्ती समारोह ट्रस्ट द्वारा उन्हें लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया। वहीं ट्रस्ट के संस्थापक राजनाथ शर्मा ने श्रीमती मोहसिना किदवाई को मोमेन्टों और शॉल भेंट किया। मोहसिना क़िदवाई ने अपने बयान में कहा कि आज हिंदुस्तान का अपना एक मुक़ाम है। जैसे पहले हिंदुस्तान की आवाज बहुत भारी हुआ करती थी। लेकिन ये बड़ी बदकिस्मती की बात है कि आज हिंदुस्तान की आवाज और सब मुल्कों ने दबा दी। यदि भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश का महासंघ बनता है तो पूरे विश्व में भारत एक शक्तिशाली मुल्क बनकर उभरेगा। 

    भारत, पाकिस्तान बांग्लादेश का महासंघ बनाओ के संयोजक राजनाथ शर्मा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी देश का एक बड़ा राजनैतिक दल है। जिसकी मोहसिना किदवाई एक वरिष्ठ राजनेत्री है। यदि कांग्रेस पार्टी भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश का महासंघ बनाने का पुरजोर समर्थन करती है तो अर्न्तराष्ट्रीय स्तर पर यह बहस शुरू हो सकती है। जिसका सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव समय समय पर सदन में भारत, पाक, बांग्लादेश के महासघ का मुद्दा उठाते रहे है। कांग्रेस पार्टी धर्मनिरपेक्ष विचारधारा की पार्टी है, वह भी महांसघ के मुद्दे को बल दे सकती है। 

    शर्मा ने कहा कि जिस प्रकार यूरोपीय देशों का एक महासंघ बना है, उसी तर्ज पर भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश का महासंघ बनना चाहिए। जिसमें शिक्षा, स्वास्थ्य, संचार, यातायात, आयात और निर्यात बिना किसी रोक के संचालित किया जा सके। तीनों देशों की संयुक्त सेना हो जिससे सेना खर्च को सीमित किया जा सके। इसके अलावा इन देशों में आने जाने का संसाधन सरल किया जाए। उन्होनें कहा कि कांग्रेस पार्टी की विचारधारा को करना चाहिए। सभा का संचालन पाटेश्वरी प्रसाद ने किया। इस मौके पर कांग्रेस नेता फवाद किदवाई, सलाउद्दीन किदवई, बृजेश दीक्षित, हुमायूं नईम खान, शिवशंकर शुक्ला, विनय कुमार सिंह, मृत्युंजय शर्मा, विजय पाल गौतम, धनंजय शर्मा, मनीष सिंह, राजेश यादव, रंजय शर्मा, जमाल नईम खान, रत्नेश कुमार, साकेत मौर्या, अनिल यादव, संतोष शुक्ला आदि लोग मौजूद रहे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.