Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बैतूल। खबर का असर, शिक्षिका ने पांचवी के छात्र की बेरहमी से पिटाई की थी, उस मामले में जांच हुई शुरू, जांच टीम पहुँची स्कूल।

    ......... आईएनए न्यूज़  द्वारा प्रमुखता से खबर प्रसारित की गई थी जिसमें बताया गया था कैसे  क्रूर शिक्षिका ने पांचवी के छात्र की बेरहमी से पिटाई की थी। 

    शशांक सोनकपुरिया\बैतूल। मध्यप्रदेश के बैतूल में गर्ग कॉलोनी के एकीकृत शासकीय स्कूल में शिक्षिका का क्रूर चेहरा आया सामने लाया था इस मामले में  ,पांचवी के छात्र को बेरहमी से पीटा गया था ,जिससे छात्र की पीठ पर निशान उभर आये थे ,परिजनो ने स्कूल  पहुँचकर प्रबंधन से मामले की शिकायत की थी वहीं शिक्षिका मीडिया के सामने आने से कतरा रही थी,  जिस पर अधिकारी ने कहा था की मामले की जांच कर  कार्यवाही की जाएगी। 

    परिजनों ने वीडियो बनाकर वायरल कर मामले को उजागर किया था। जिसकी खबर हमारी ऐजेंसी  ने प्रमुखता से प्रसारित किया जिसका  त्वरित असर  हुआ और खबर के माध्यम से शासन प्रशासन हरकत में आया और मामले की जांच शुरू हो गई ।अब देखना यह है कि जांच में क्या निकल कर सामने आता है और क्रूर शिक्षिका  तरुणेश साहू पर क्या कार्यवाही की जाएगी।

    • क्या था पूरा मामला

    मामला यह था कि रामनगर निवासी मुकेश वरवड़े ने मीडिया से संपर्क कर बताया कि प्राथमिक शाला गर्ग कॉलोनी में उनका पुत्र टोनी वरवड़े 5वी कक्षा का छात्र है जो गुरुवार को स्कूल गया था वहाँ पर किसी बात को लेकर शिक्षिका तरुणेश साहू ने उनके पुत्र टोनी को छड़ी से बेरहमी से पीट दिया जिसकी जानकारी टोनी के घर आने के बाद मिली उन्होंने उसके कपड़े उतारकर देखा तो उसकी पीठ में बेरहमी से पिटाई किये जाने पर निशान उभर आई थी जिसका वीडियो भी उनके द्वारा बनाया गया जिसके बाद मुकेश वरवड़े ने INA News के बैतूल ब्यूरो से संपर्क किया और मामला बताया बताया दूसरे दिन हम स्कूल पहुँचे और शिक्षिका का पक्ष जानने का प्रयास किया जहाँ टोनी की माँ भी मौजूद थी उन्होंने बताया कि मैं अपने बेटे की इस तरह पिटाई होने पर शिक्षिका के खिलाफ शिकायत करने आई हूं और बताया कि शिक्षिका तरुणेश साहू द्वारा बेटे को बिना किसी बात के बेरहमी से पीटा गया है और कोई कॉपी कंप्लीट नही हुई थी जबकि उन्होंने बताया कि मैं बच्चे को रोज घर पर पढ़ाती हूं और कॉपी भी कम्प्लीट करवाती हूं और जिस्कोपय को जांचकर बेरहमी से पीटा गया था वो तो कम्प्लीट करवाई थी। वहीं शिक्षिका को तो यही याद नही है कि टोनी को किस कारण मारा गया था।अब सरकारी स्कूलों में इस तरह के शिक्षक होंगे तो कौन से माता पिता अपने बच्चों को ऐसे सरकारी शिक्षकों के पास भेजेंगे पढ़ने के लिए और डर दबाव में बच्चों का क्या भविष्य होगा आपको बता दें कि इस मामले में हमने जिला शिक्षा अधिकारी से संपर्क किया तो उनका कहना है कि आपने मामला संज्ञान में लाया है मामले की पूरी जांच करवाकर दोषी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी और साथ ही उनसे जब प्रश्न किया गया कि क्या स्कूल में शिक्षक छात्रों की पिटाई कर सकते है क्या शासन से इसका अधिकार दिया गया है तो उन्होंने बताया कि मारना तो बहुत दूर की बात है बच्चों को प्रताड़ित करने पर भी तत्काल कार्यवाही की जाएगी। 

    शिवप्रसाद महोबे ( बीआरसी बैतूल)

    अब देखना यह है कि नवागत जिला शिक्षा अधिकारी के निर्देश पर जिला शिक्षा केंद्र के प्रभारी क्या कदम उठाते है और क्या कार्यवाही की जाती है शिक्षिका तरुणेश साहू पर मामले की जांच करने जांच टीम स्कूल पहुंची और मामले से संबंधित कथन लिए और बताया कि जांच कर प्रतिवेदन पेश किया जायगा आगे की कार्यवाही अधिकारी द्वारा की जाएगी।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.