Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गया\बिहार। बौद्ध धर्म के धर्म गुरु दलाई लामा के आगमन को लेकर जिला पदाधिकारी ने पदाधिकारियों के साथ की बैठक ।

     संवाददाता प्रमोद कुमार यादव गया बिहार

    गया\बिहार। महा पावन दलाई लामा के दिसंबर माह में बोधगया में संभावित आगमन को लेकर जिला पदाधिकारी गया डॉक्टर त्यागराजन एसएम एवं वरीय पुलिस अधीक्षक हरप्रीत कौर की अध्यक्षता में वरीय पदाधिकारियों, पुलिस पदाधिकारियों तथा तिब्बत मॉनेस्ट्री के केयरटेकर के साथ बैठक करते हुए कई आवश्यक निर्देश दिए।जिला पदाधिकारी ने कहा कि दिसंबर माह में महा पावन दलाई लामा के कार्यक्रम संभावित है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के बाद लगभग 2 सालों के बाद यह कार्यक्रम संभावित होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि कालचक्र मैदान में महा पावन दलाई लामा जी द्वारा विभिन्न बौद्ध श्रद्धालुओं को टीचिंग कार्यक्रम किया जाता है। जिसमें लगभग 50 से 60 हजार विभिन्न देश-विदेश (ऑल ओवर वर्ल्ड) के श्रद्धालु को आने की संभावना है।

    कार्यक्रम की तैयारी के समीक्षा में जिला पदाधिकारी ने अनुमंडल पदाधिकारी तथा आपूर्ति पदाधिकारी को निर्देश दिया कि महा पावन दलाई लामा के टीचिंग कार्यक्रम में शामिल होने वाले श्रद्धालुओं को लंगर एवं चाय पिलाया जाता है, जिसे लेकर गैस सिलेंडर तथा किरासन तेल की आवश्यकता पड़ती है। उन्होंने तिब्बतन मॉनेस्ट्री से समन्वय स्थापित करते हुए आकलन कर ले कि कितने एलपीजी तथा कितने मात्रा में किरासन तेल की आवश्यकता पड़ेगी, उसी के अनुरूप अधियाचना कर ले। महा पावन दलाई लामा के टीचिंग कार्यक्रम के दौरान बोधगया क्षेत्र के साथ-साथ कालचक्र मैदान में बिजली की निर्बाध व्यवस्था रहे, इसे लेकर उन्होंने अधीक्षण अभियंता बिजली विभाग को निर्देश दिया कि 200 केवीए का एक अलग से ट्रांसफार्मर को चिन्हित रखें ताकि जरूरत पड़ने पर उसे प्रयोग में लाया जा सके। इसके साथ उन्होंने कहा कि तिब्बत मोनेस्ट्री से समन्वय स्थापित करते हुए बिजली खपत के लोड का डिस्क्रिप्शन प्राप्त करे की कितनी मात्रा में एलईडी स्क्रीन, कितनी मात्रा में पंखे, कूलर, लाइट लगाए जाएंगे उसी के अनुरूप निर्बाध बिजली उपलब्ध करवाने की व्यवस्था रखे।

    कार्यपालक अभियंता बिजली विभाग बोधगया तथा भवन निर्माण विभाग के बिजली अभियंता को निर्देश दिया कि तिब्बत मॉनेस्ट्री के इंटरनल वायरिंग तथा बोधगया के कालचक्र मैदान सहित अन्य भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों सड़क सहित अन्य क्षेत्रों का वायरिंग तथा लूज वायर इत्यादि का जांच करना सुनिश्चित करें।

    बैठक में उन्होंने फायर सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए जिला अग्निशमन पदाधिकारी को निर्देश दिया कि महा पावन दलाई लामा के संभावित कार्यक्रम को देखते हुए कालचक्र मैदान सहित बोधगया के क्षेत्रों में फायर सेफ्टी पर विशेष सतर्कता बरतनी होगी। उन्होंने कहा कि यदि मैन पावर ( कर्मियों की अतिरिक्त आवश्यकता) तथा फायर ब्रिगेड की छोटी-बड़ी वाहनों की अतिरिक्त आवश्यकता है तो, अभी से ही आकलन करते हुए विभाग को अधियाचन कर ले। कालचक्र मैदान में टेंट लगने के पश्चात पर्याप्त स्थानों पर फायर संबंधित मशीन लगवाना सुनिश्चित रखें।

    साफ सफाई के समीक्षा के दौरान उन्होंने नगर परिषद बोधगया के कार्यपालक पदाधिकारी को निर्देश दिया कि कालचक्र मैदान सहित रिवर साइड सड़क, दोमुहान से महाबोधि मंदिर तथा अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर साफ सफाई की मुकम्मल व्यवस्था रखें। उन्होंने बीटीएमसी को निर्देश दिया कि विभिन्न शौचालयों की अच्छे तरीके से साफ सफाई की व्यवस्था रखें। चिल्ड्रन पार्क बोधगया में उगे हुए जंगल झाड़ को बुडको तथा नगर परिषद बोधगया के कार्यपालक पदाधिकारी आपस में समन्वय रखते हुए जंगल झाड़ की साफ सफाई करवाना सुनिश्चित करावे।

    पेयजल के समीक्षा के दौरान उन्होंने कार्यपालक अभियंता पीएचईडी को निर्देश दिया कि कालचक्र मैदान क्षेत्र में निर्बाध रूप से पानी टैंकर की व्यवस्था रखें। महा पावन दलाई लामा कार्यक्रम के दौरान बोधगया में ट्रैफिक व्यवस्था पर और कड़ाई से पालन करवाया जाए कहीं भी जाम की समस्या ना मिले इसके लिए अभी से ही अच्छे तरीके से ट्रैफिक प्लान को तैयार करें तथा उसे इंप्लीमेंट करवाना सुनिश्चित करावे। इसके साथ ही उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि किन किन स्थानों पर ड्राप गेट की आवश्यकता है, किन स्थानों पर बैरिकेडिंग की आवश्यकता है, सीसीटीवी की आवश्यकता, वॉच टावर, पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति इत्यादि का आवश्यकता है इसे लेकर अभी से ही कार्य योजना तैयार कर ले। उन्होंने अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देश दिया कि टीचिंग के दौरान अधिक संख्या में विदेशी पर्यटक आने की संभावना है इसे देखते हुए वाहनों के पड़ाव हेतु पार्किंग स्थल को चिन्हित कर ले। 

    बैठक में उन्होंने कार्यपालक अभियंता आरसीडी को निर्देश दिया कि बोधगया के विभिन्न मॉनेस्ट्री के क्षेत्र तथा कालचक्र मैदान के समीप खराब सड़कों को तेजी से मरम्मत करावे। उन्होंने सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि महा पावन दलाई लामा के संभावित आगमन के दौरान विभिन्न मेडिकल कैंप तथा बोधगया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में वरीय चिकित्सकों की प्रतिनियुक्ति रखें। इसके साथ ही लेटेस्ट उपकरण भी उपलब्ध रखें। पर्याप्त संख्या में एंबुलेंस को डेडीकेटेड रखें।  इसके उपरांत वरीय पुलिस अधीक्षक द्वारा महा पावन दलाई लामा के संभावित कार्यक्रम को लेकर विधि व्यवस्था तथा सुरक्षा व्यवस्था पर विस्तार से समीक्षा करते हुए कई आवश्यक निर्देश दिए हैं।बैठक में नगर पुलिस अधीक्षक, उप विकास आयुक्त, एसडीओ सदर, पुलिस उपाधीक्षक बोधगया, सिविल सर्जन, एनडीसी गया, विभिन्न लाइन डिपार्टमेंट में पदाधिकारी, चीफ मोंक महाबोधि मंदिर, केअर टेकर महाबोधि मंदिर, केयर टेकर तिब्बत मोनास्ट्री सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.