Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। बेलगाम हो गए हैं जिले के अधिकारी, मुख्यमंत्री का भी आदेश नहीं मानते।

    • 35 जनपदों ने शासन द्वारा मांगी गई सूचना नहीं भेजी
    • सीजनल अमीनो व अनुसेवकों का समायोजन हो रहा है प्रभावित

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। राजस्व संग्रह सीजनल अमीन कर्मचारी सेवक वेलफेयर एसोसिएशन ने जनपदों के मुख्य राजस्व लेखाकार ( सी०आर०ए०) पर मुख्यमंत्री के आदेश की अवहेलना करने का आरोप लगाया है। एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष वीरेन्द्र कुमार ने कहा कि शासन ने समस्त जिलाधिकारियों से राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश के माध्यम से सीजनल संग्रह अमीनों व  सीजनल संग्रह अनुसेवकों के संबन्ध में समायोजन के लिए मुख्यमंत्री के आदेश पर 28 अक्टूबर तक सूचना मांगी थी| आज तक अनेको जनपदों ने सूचना नहीं भेजी है| जिसकी वजह से समायोजन का कार्य बाधित हो रहा है। 

    सूचना न भेजने वालो में अलिगढ,  हाथरस, एटा, कासगंज, बलिया, मऊ,  प्रयागराज, कौशांबी, प्रतापगढ़, कन्नौज, महाराजगंज, महोबा, जालौन,  झांसी, ललितपुर, गोंण्डा,  बलरामपुर, श्रावस्ती, अमेठी, अयोध्या,  बाराबंकी, सुल्तानपुर, अयोध्या, बस्ती, संभल, रामपुर, गाजियाबाद, हापुड़, खीरी, रायबरेली,  लखनऊ,  गाजीपुर, जौनपुर, संत रविदास नगर, व सहारनपुर शामिल है। राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश ने इन सभी जिलों को तत्काल सूचना भेजने के लिए 4 नवम्बर को पुन: आदेश जारी किया है|  लेकिन सूचना राजस्व परिषद को नही भेजी गयी है|वीरेन्द्र कुमार ने शासन से सभी जनपदों के जिम्मेदार मुख्य राजस्व लेखाकार के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की मांग की है। उन्होंने कहा कि तमाम जनपद ऐसे हैं जो गलत आंकड़े, गलत सूचना राजस्व परिषद को भेज रहे हैं जिससे सीजनल अमीनो व अनुसेवकों का विनियमितीकरण प्रभावित होगा। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.