Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। सरकार की बेरुखी से नाराज भारत के लाल ईंट भट्ठा स्वामी रामलीला मैदान नई दिल्ली से संसद तक करेगें प्रदर्शन, समाधान होने तक जारी रहेगी अनिश्चित कालीन हड़ताल।

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। अखिल भारतीय ईंट व टाइल निर्माता महासंघ के आवाहन पर उत्तर प्रदेश ईंट निर्माता समिति के तत्वाधान में सरकार की बेरुखी से नाराज भारत का समस्त लाल ईंट भट्ठा स्वामी दिनांक 10 नवम्बर, 2022 को रामलीला मैदान नई दिल्ली से संसद तक करेगें प्रदर्शन। उद्योग की विभिन्न समस्याओं के कारण सम्पूर्ण भारत का भट्ठा स्वामी अपने लाल ईंट भट्ठे बन्द कर भारत सरकार स्तर से समाधान होने तक अनिश्चित कालीन हड़ताल पर रहने के बाद भी अब सम्पूर्ण भारत का भट्ठा स्वामी अपने उद्योग को बचाने के लिये मजबूरी में रामलीला मैदान से अपनी वेदना भारत सरकार तक पहुॅचायेगें, वेदना इतनी अधिक कि अब रामलीला मैदान से प्रदर्शन उपरान्त प्रत्येक भट्ठा स्वामी पैदल यात्रा कर संसद तक जायेगें। यह उद्योग हित की लड़ई है। जनमानस के आवास एवं इस उद्योग से जुड़े श्रमिको की रोजी-रोटी पर भी संकट है। 

    यह उद्योग सस्ता आवास एवं लाखो जुड़े श्रमिको को रोजगार देता है। सरकार की इस उद्योग के प्रति अनदेखी से सम्पूर्ण भारत में लगभग 03.00 करोड़ श्रमिक बेरोजगार होगें। जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी सरकार की होगी। यह जानकारी कानपुर ब्रिक क्लिन ओनर्स एसोसिएशन की तरफ से प्रेस वार्ता के दौरान जारी प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से उत्तर प्रदेश ईंट निर्माता समिति प्रदेश महामंत्री / अध्यक्ष कानपुर ब्रिक क्लिन ओनर्स एसोसिएशन से गोपी श्रीवास्तव द्वारा दी गई। कानपुर ब्रिक क्लिन ओनर्स एसोसिएशन के महामंत्री घनश्याम दास छाबड़ा ने कहा कि हम अपने ईंट भट्ठा उद्योग की परेशानियों से स्थानीय प्रशासन एवं सरकार को वार्ताओ के माध्यम से अवगत कराते आये है। जिसका माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश ने ईंट भट्ठा उद्योग हित में संज्ञान लिया। परन्तु कुछ समस्याओं का समाधान भारत सरकार स्तर से होना है। अब हम अपने ईंट भट्ठा उद्योग की समस्याओं को भारत सरकार तक पहुँचाने एवं समाधान हेतु अनिश्चित काल के लिये ईंट भट्ठा बन्द कर हड़ताल पर रहेगें। इस आधुनिक युग में ईंट भट्ठो पर ईंट मिट्टी बनाने वाली मशीनो के प्रयोग में JCB मशीन द्वारा ईंट मिट्टी को मशीनो में डालने हेतु प्रयोग तथा श्रमिको की मॉग पर ईंट भट्ठो पर ही JCB मशीन से मिट्टी खोदकर देना पड़ता है। इस लिये सरकार से निवेदन है कि उपरोक्त के सम्बन्ध में JCB मशीन से ईंट भट्ठो को खनन करने की अनुमति प्रदान करने की कृपा करें। प्रेस वार्ता में गोपी श्रीवास्तव, घनश्याम दास छाबड़ा, विजय बदलानी, आदि उपस्थित रहे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.