Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। संविधान विभिन्नताओं में एकता का सृजक है- सत्यदेव पचौरी

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के केंद्रीय संचार ब्यूरो, क्षेत्रीय कार्यालय, बांदा द्वारा शहर स्थित बीएनएसडी शिक्षा निकेतन इंटर कॉलेज में संविधान दिवस के अवसर पर एक दो दिवसीय चित्र प्रदर्शनी व जागरूकता कार्यक्रम का उद्घाटन कानपुर नगर के सांसद सत्यदेव पचौरी द्वारा किया गया। 

    कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सांसद सत्यदेव पचौरी ने छात्र व छात्राओं का आहवाहन किया कि वे संविधान का अध्ययन अवश्य करें क्योंकि ये हमारी सम्पूर्ण और सशक्त प्रगति का मेरुदंड है। और जीवन में राष्ट्र को सर्वोपरि स्थान दें। क्योंकि बिना राष्ट्र निष्ठा के हम प्रगति पथ पर आगे नहीं बढ़ सकते। उन्होने कहा कि राष्ट्र के प्रति सर्वोपरि भावना होने से देश को सम्मान मिलता है। 

    उन्होने कहा कि बच्चों को यह समझना चाहिए कि देश की एकता और अखंडता के लिए संविधान का अनुपालन अति आवश्यक है।  उन्होने कहा कि भारतीय संविधान विश्व के उन बिरले संविधानों में एक है जहां विभिन्न धर्म, जाति और पिछड़े वर्गों के विकास के लिए प्रावधान किए गए हैं। उन्हीं प्रावधानों का यह फल है कि आज देश में उन लोगों को भी सर्वोच्च स्थान प्राप्त हो रहा है जो अभी तक उपेक्षित रहे हैं। 

    कार्यक्रम में उपस्थित नगर के लब्ध प्रतिष्ठित अधिवक्ता एवं यूपी बार काउंसिल के पूर्व चेयरमैन रमाकांत मिश्र ने संविधान के भिन्न अनुच्छेदों पर प्रकाश डालते हुए इस बात पर बल दिया कि संविधान पूरी तरह से सभी जाति, वर्ग और संप्रदायों के प्रति उदार भाव रखता है। साथ ही विभाग द्वारा एक प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें विषयागत सवाल पूछ सही उत्तर देने वाले 15 छात्रों को पुरस्कृत किया गया। विजेता छात्र थे गौरी राजपूत, केशव द्विवेदी, आशुतोष चतुर्वेदी, अमित कुमार, काशी द्विवेदी, ऋत्विका सिंह, सत्यजीत, माधव पांडे, दिव्यान्श दीक्षित, प्रत्युष सिंह, शुभम पाल, अंशुमन वाजपेई, रौनक कुमार, शशि शेखर बाजपेई व यश बाजपेई।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.