Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देहरादून। उत्तराखंड/ उत्तरप्रदेश में कमीशनखोरी ज़ीरो की बजाए चरम पर।

     सैयद उवैस अली 

    देहरादून। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत एक बार फिर सुर्खियों में हैं। तीरथ का एक बयान सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है अपने इस बयान में तीरथ ने कमीशनखोरी को लेकर उत्तराखंड/उत्तराप्रदेश सरकार पर ख़ासा तंज़ कसा है।

    गरिमा माहरा दसौनी, प्रवक्ता कांग्रेस              तीरथ सिंह रावत, पूर्व मुख्यमंत्री उत्तराखंड

    यूपी और उत्तराखंड सरकार को लेकर दिए अपने बयान पर तीरथ सिंह रावत का कहना है कि उन्हें किसी भी तरह की कोई हिचक नहीं है। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत का भ्रष्टाचार को लेकर एक बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है इसमें वह कहते नज़र आ रहे हैं कि उत्तरप्रदेश से अलग होने के बाद उत्तराखंड में कमीशनखोरी ज़ीरो पर होनी चाहिए थी लेकिन ये कम होने के बजाए बढ़ गई है। पूर्व मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि बहुत जगह बताते हैं कि कहीं भी बिना कमीशन कुछ नहीं होता। मुझे यह कहने में कोई हिचक नहीं होती है कि जब हम उत्तरप्रदेश में थे, तब वहां 20 प्रतिशत कमीशन दिया जाता था पर अलग होने के बाद हमको कमीशनखोरी छोड़कर जीरो पर आना चाहिए था लेकिन ऐसा नही हुआ। ये बयान देने के साथ पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ रावत ने ये भी साफ़ किया है कि कमीशनखोरी के लिए किसी को दोष नहीं दिया जा सकता बल्कि ये एक तरह की मानसिकता है इसको ठीक करने की ज़रूरत है। 

    तीरथ सिंह रावत, पूर्व मुख्यमंत्री उत्तराखंड

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.