Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बलिया विशेष। जन्मोत्सव सप्ताह के अवसर पर विचार गोष्ठी।

    रिपोर्ट-सै० आसिफ हुसैन ज़ैदी

    बलिया। सारे जहां से अच्छा हिदोस्तां हमारा कौमी तराने के लिए विख्यात शायर अल्लामा इकबाल, देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लालनेहरू और देश के पहले शिक्षा मंत्री मौलाना अब्बुल कलाम आजाद जन्मोत्सव सप्ताह के अवसर पर विचार गोष्ठी। 

    खबर बलिया से है जहां कौमी तराने के रचनाकार और ख्यांतिलब्ध तीन विभूतियां जिनमें अल्लामा इकबाल, पंडित जवाहरलाल नेहरू व अब्बुल कलाम आजाद के जन्मोत्सव पर जन जागरण समिति आईना एवं जिला अल्पसंख्यक समिति बलिया के संयुक्त तत्वाधान मे  एक विचार गोष्ठी आयोजित हुई, जिस गोष्ठी में वकील डॉक्टर, अध्यापक पत्रकार, समाजसेवी ने। देश में तीनों महान हस्तियों का भारत की आजादी में उनकी भूमिका पर वक्ताओं ने विचार व्यक्त करते हुए

    देश में मौजूद स्थिति पर   चर्चा की। इस विचार गोष्ठी मे इस जनपद मे अलग-अलग संगठन से जुड़े लोग भी शामिल रहे ।सभा की अध्यक्षता वरिष्ठ अधिवक्ता अमरनाथ सिंह  ने किया विशिष्ट अतिथि  अशोक जी , एडवोकेट रंजीत  सिंह मौजूद रहे। वरिष्ठ अधिवक्ता शैलेश सिंह ने मौजूदा हालात पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि आज चाय बेचने वाला व्यक्ति देश के शीर्ष स्थान पर पहुंचता यह लोकतंत्र की ही देन है । श्री सिंह ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि जो लोकतंत्र नेहरू ने स्थापित किया था आज अगर वैसा दौर होता तो ऐसे लोग कभी सत्ता में नहीं आ सकते थे । इसलिए कि आज सवाल करने वालोँपर पहरा बिठा दिया गया हैं । ताकि सवाल न उठने लगे , आपके देश में न्यायपालिका पर भी आज सवाल खड़ा हो रहा है। चुनाव आयोग को भी शक के दायरे आने लगा उसके विरुद्ध भी सवाल खड़े होने लगा है। 

    अब  सवाल यह होता है कि लोकतंत्र के लिए  सरी चीज़े जो आवश्यक है, उस पर सरकार का नियंत्रण हो गया है ।जो एक गम्भीर खतरा है। इसको बचने के लिए आपको नेहरु बनना पड़ेगा आपको आजाद बनना पड़ेगा आपको जो लिखने वाले लोग हैं उन्हें इकबाल कि तरह  बन कर काम करना पड़ेगा। आगे श्री शैलेश ने कहा  कि देश आजादी से ज्यादा संकट से गुजर रहा है। इसलिए कि जो दिखना चाहिए वह दिखाया नहीं जा रहा है। मीडिया पर भी सवालिया निशान लगाते हुए शैलेश ने कहा कि मीडिया पर भी आज अडानी और अंबानी जैसे लोगों का नियंत्रण हो गया है । इसलिए जनता के सामने सही तस्वीर नहीं आ  रही है। कुछ लोग आजाद वही है जो आपके गांव में खोज कर कुछ निकालने का प्रयास करते हैं तो उनके भी मालिक उनकी बातों को तवज्जो नहीं देते ।

    गोष्ठी का संचालन डाँक्टर मज़हर एजाज़ आज़मी ने किया ,तथा गोष्ठी में आये अतिथियों एवं वक्ताओं का स्वागत डाॅकटर इलियास ने किया । वक्ताओं में शामिल रहे  समाजसेवी तेजनारायन जी, साथी रामजी गुप्ता,  लक्ष्मण यादव तथा ऐ इंटक के प्रदेश के नेता कामरेड संतोष जी , समाज सुधारक वकील अवसदअली ,एवं बुद्धिजीवी मौजूद रहे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.