Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बैतूल। चिचोली सीएमओ का तुगलकी फरमान, रात 9 से 10 बजे के बीच दुकाने खाली करने का आदेश आनन- फानन में किया जारी।

    • अब आजीविका कैसे चलाएंगे छोटे व्यापारी
    • नगर परिषद चिचोली में जय स्तम्भ चौक से लेकर वीर दुर्गादास चौक तक चल रही अतिक्रमण की मुहीम को 30 फीट तक व्यापारियों के हित में आगे आये कांग्रेस पार्षद

    शशांक सोनकपुरिया\बैतूल। मध्यप्रदेश के बैतूल के चिचोली नगरपालिका के सीएमओ द्वारा एक नोटिस अतिक्रमणकारियों को पहले में 7 दिन के अन्दर अपने अपने आगे बड़े टीनसेडो को हटाने के लिये दिया गया था। इसके बाद आज से 4 दिन पहले आनन फानन में एक नोटिस व्यापारियों को रात के 9 से 10 बजे तक पूरी ही दुकाने खाली कराने के लिये दे दिया गया, चूंकि इस जगह पर लोग 40-50 वर्षो से अपनी आजीविका एवं परिवार के भरण पोषण के लिये दुकाने चला रहे है। पूर्व में भी इन व्यापारियों पर कोई ध्यान नहीं दिया गया और इन्हें नियमित तौर पर पटटा देकर दुकान देने का प्रयास नही किया गया वही राजनितिक रसूक रखने वाले लोगों को मन मर्जी से मन चाही जगह पर बड़ी बड़ी बिडिंगें बनाने के लिये पटटे दे दिए गए है। जिस नियम से इन लोगों को पटटे दिये गये क्या इन छोटे छोटे लोगों को जो अपने परिवार की आजीविका इन दुकानों से चलाते हैइन्हें नही दिया जा सकता है तो फिर ये अन्याय क्यों किया गया?

    ये लोग अपनी अजीविका चलाते है सबसे पहले इन लोगो बुलाकर परिषद के जनप्रतिनिधियों एवं व्यापारियों के साथ मिलकर एक बैठक क्यों नहीं की गई ? जिससे समस्या का समाधान भी हो सकें और इन लोगों का नुकसान भी न हो जब कांग्रेस पार्षद द्वारा मुख्य नगर पालिका अधिकारी से पूछा गया यह कार्यवाही किसके निर्देश पर हो रही है। तो बताया गया कि ऊपर से हो रही है  और अपने आप को मामले  अलग करने का प्रयास किया गया लेकिन जब यह भी स्पष्ट नही है कि यह जमीन नगर परिषद  की है या नहीं तो मुख्य नगर पालिका अधिकारी को यह अधिकार कैसे है  की उनके हस्ताक्षर से नोटिस दे दे। जबकि कार्यवाही उपर से होती तो यह अधिकार नगर पालिका चिचोली को होना चाहिए था। लोगों को गुमराह कर यह कैसी व्यवस्था बनाई जा रही है जिससे लोग बेरोजगार हो रहे है और वर्तमान में   व्यापारियों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है वहीं  ऐसा कहा जा रहा है कि परिषद की बैठक बुलाकर इसमें निर्णय लेकर लोगों को  गुमठीया देने की बात की जा रही है।  माना यह पहल अच्छी है लेकिन कब और कितने दिनों तक लोग इसका इंतजार करेंगे?

    इसमें बीच कोई बीच का रास्ता तो निकालना ही होगा जिससे लोग बेरोजगार न हो  चूंकि मुख्य मार्केट होने के वजह से लोगों की जरूरत की जो सामग्री होती है वो उन्हें इन दुकानों से मिलती  है। उनके लिये भी यह संकट का प्रश्न है।

    कांग्रेस पार्षद की मांग है कि इन छोटे माध्यम व्यापारी भाईयों के साथ संवेदनशीलता के लिये 30 फीट कराकर इसे रोका जायें चूंकि 30 फीट में सड़क का चौड़ीकरण भी हो जायेगा और दोनो और नालियों का निर्माण भी किया जा सकता है। इनके साथ बैठकर कोई बीच का रास्ता निकाला जायें। आगामी समय में जो इन्हें दुकाने आवंटित कराने की जो बात हो रही है, उसमें भी इन्हें विश्वास में लेकर यह कार्य किया जाये, जिससे जो भय और डर का वातावरण इन व्यापारी भाईयों के मन में बना हुआ है उसका न्याय संगत निराकरण हो जिससे वे भविष्य के प्रति आश्वस्त रह सकें।

    वही जब नगर पालिका सीएमओ आरिफ हुसैन से इस बारे में चर्चा करने के लिए उनके नंबर 9981324461 पर कई बार कॉल किया गया लेकिन उनके द्वारा कॉल रिसीव नहीं किया गया आखिर क्या वजह है कि चिचोली नगरपालिका सीएमओ पत्रकारों के कॉल नहीं उठाते क्या उन्हें किसी का संरक्षण प्राप्त है जो अपनी मनमानी करते नजर आते इससे पहले भी नगर पालिका सीएमओ ने सरकारी खर्चे पर बीजेपी का कार्यक्रम कराया था जिसमें स्थानीय विधायक ब्रह्मा भलावी का आमंत्रण पत्र  नाम तक नहीं लिखा था से यह प्रतीत होता है कि सीएमओ को बीजेपी संरक्षण प्राप्त होने की वजह से अपनी मनमानी आए दिन करते हैं कई सालों से वहां पर पक्के अतिक्रमण है लेकिन सीएमओ आरिफ हुसैन कार्रवाई ऊन पर करने की जगह गरीबो पर करते है रोजमर्रा के लिए कमा कर  खाने वाले गरीब लोगों पर अपनी तानाशाही झाड रहै है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.