Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। प्रधानमंत्री को भेंट किए गए कानपुर मेट्रो ट्रेन मॉडल की 5,95,200/- में लगी बोली।

    ............ गंगा नदी को संरक्षित करने के लिए ‘नमामि गंगे‘ कार्यक्रम में प्रयोग होगी नीलामी से प्राप्त धनराशि 

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। भारत सरकार के ओपन ऑक्शन पोर्टल ‘पीएम मेमेंटोस’ पर ऑनलाइन नीलामी के लिए रखे गए कानपुर मेट्रो ट्रेन के मॉडल के लिए 5,95,200/- रूपये की बोली लगाई गई है। कानपुर मेट्रो का यह ट्रेन मॉडल  मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ द्वारा  प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी को प्रायोरिटी कॉरिडोर (आईआईटी कानपुर - मोतीझील) पर कानपुर मेट्रो सेवा के शुभारंभ के अवसर पर भेंट किया गया था।

    28 दिसंबर, 2021 को  प्रधानमंत्री ने कानपुर शहरवासियों को मेट्रो की सौगात भेंट की थी। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने आईआईटी कानपुर से गीतानगर तक कानपुर मेट्रो से यात्रा की थी और निराला नगर स्थित रेलवे मैदान में रिमोट का बटन दबाकर और हरी झंडी दिखाकर कानपुर मेट्रो को शहरवासियों को समर्पित किया था। इस मैदान में आयोजित जनसभा के दौरान ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्रीय शहरी एंव आवासन मंत्री  हरदीप सिंह पुरी, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य एवं अन्य गणमान्य अतिथियों की गरिमामयी उपस्थिति में प्रधानमंत्री मोदी को कानपुर मेट्रो ट्रेन का मॉडल भेंट किया था।

    लगभग 6.5 किलोग्राम वजनी यह मेट्रो ट्रेन मॉडल लाल मखमली वस्त्र से ढंके बॉक्स में रखी गई है। नीलामी के लिए इस मॉडल का बेस मूल्य 37,800 /- रूपये तय किया गया था। ई-नीलामी पोर्टल पर कई बार लगी बोलियों के बाद यह मूल्य 5,95,200/- रूपये की बोली पर जाकर रूका। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पाेरेशन लिमिटेड के प्रबंध निदेशक  सुशील कुमार ने कहा कि, ‘‘कानपुर के लोगों के लिए मेट्रो सेवाओं के उद्घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री को कानपुर मेट्रो का मॉडल भेंट करना हमारे लिए बहुत गर्व का क्षण था। आज, मुझे यह जानकर और भी गर्व महसूस हो रहा है कि उसी कानपुर मेट्रो मॉडल को माननीय प्रधान मंत्री द्वारा नमामि गंगे जैसे नेक कार्य के लिए नीलाम किया गया है। यूपीएमआरसी के लिए यह गर्व की बात है कि हमें  भी किसी ना किसी तरह से इस कार्य से जुडने का सौभाग्य मिला।‘‘

    भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट द्वारा  प्रधानमंत्री को भेंट किए गए चयनित स्मृति चिह्नों की ऑनलाइन नीलामी ‘पीएम मेमेंटोस’ पोर्टल के माध्यम से की जाती है। इस साल ‘पीएम मेमेंटोस‘ पोर्टल पर 17 सितंबर से 2 अक्टूबर 2022 तक लगभग 1,222 स्मृति चिन्हों की नीलामी की गई। नीलामी में हिस्सा लेने के लिए खरीदार को अपने मोबाइल नं. और ईमेल आईडी के माध्यम से स्वयं को पोर्टल पर रजिस्टर करना होता है। इस नीलामी के माध्यम से जुटाई गई धनराशि राष्ट्रीय नदी गंगा के संरक्षण और कायाकल्प के लिए चल रहे ‘नमामि गंगे‘ कार्यक्रम में प्रयोग की जाएगी।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.