Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। दिवंगत व्यापारी संजय गुप्ता के परिवार के लिए 20 लाख के मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग।

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। सूदखोरों की प्रताड़ना व अवैध वसूली से परेशान होकर आत्महत्या करने वाले बर्रा निवासी व्यापारी संजय गुप्ता की पत्नी वर्षा व सात वर्षीय बेटी भाव्या के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उत्तर प्रदेश प्रांतीय व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष व न्याय संघर्ष समिति के संयोजक अभिमन्यु गुप्ता ने 20 लाख के मुआवजे और एक सरकारी नौकरी की मांग की है।अभिमन्यु गुप्ता ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर कहा की सूदखोरी अपने आप में गंभीर अपराध है।प्रदेश में सूदखोरों के कारण कई व्यापारियों की जान गई।पिछले वर्ष शाहजहांपुर में व्यापारी अखिलेश गुप्ता ने सूदखोरों से परेशान होकर परिवार सहित आत्महत्या कर ली।कानपुर में पिछले वर्ष नौबस्ता निवासी व्यापारी जय शंकर यादव ने सूदखोरों से परेशान होकर आत्महत्या कर ली।सूदखोर पैसा उधार देते हैं और परेशान व्यापारी से अनापशनाप ब्याज वसूलते हैं जो की असल से अक्सर 100 गुना हो जाता है।और फिर पीड़ित हताशा में गलत कदम उठाते हैं।

    सरकार के कई वादों के बावजूद सूदखोरों का उत्पीड़न और व्यापारियों को फसाने का सिलसिला नहीं रुक रहा है।अभिमन्यु गुप्ता ने मुख्यमंत्री को  लिखा की मृतक व्यापारी संजय गुप्ता ने घटना से 9 दिन पहले ही प्रशासन को पत्र लिख दिया था पर कोई कार्यवाही नहीं हुई।अगर समय से कार्यवाही होती तो संजय जीवित होते।संजय के परिवार में पत्नी वर्षा और 7 साल की बिटिया भाव्या है।अभिमन्यु ने मुख्यमंत्री से वर्षा और बेटी भाव्या के लिए 20 लाख मुआवजे और पत्नी के लिए सरकारी नौकरी की मांग रखी।अभिमन्यु ने लिखा की परिवार में कोई पालन पोषण करने वाला नहीं है।साथ ही अभिमन्यु गुप्ता ने मांग रखी की सभी आरोपी तत्काल गिरफ्तार किए जाएं और प्रदेश में सूदखोरी की प्रताड़ना और अवैध व्यापार बंद करने के लिए सख्त से सख्त कदम उठाए जाएं।अभिमन्यु गुप्ता,प्रदीप तिवारी, साकिफ कुरैशी, जय गुप्ता,काले खान, मो नसीरुद्दीन आदि थे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.