Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संस्थापक एवं पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के निधन पर दारुल उलूम देवबंद के सदर ने अखिलेश यादव से की मुलाकात।

    शिबली इकबाल\लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संस्थापक एवं पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के निधन पर जमीयत उलमा ए हिंद के प्रमुख और दारुल उलूम देवबंद के सदर उल मुदर्रसीन मौलाना सैयद अरशद मदनी ने उनके पुत्र और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की और मुलायम सिंह यादव के निधन को देश की सेकुलर राजनीति के लिए बड़ा नुकसान बताया।

    शुक्रवार को सैफाई पहुंचे जमीयत उलमा ए हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना सैयद अरशद मदनी ने यादव निवास स्थान पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की और शोकाकुल परिवार के प्रति अपनी संवेदना जताई। मौलाना सैयद अरशद मदनी मुलायम सिंह यादव से अपने संबंधों का जिक्र करते हुए कहा कि मुलायम सिंह यादव ने हमेशा देश की एकता अखंडता को मजबूत करने का काम किया है,वह सेकुलर राजनीति के बड़े अलंबरदार थे,जिन्होंने हमेशा हर वर्ग को सम्मान दिया है और देश के लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए लंबा संघर्ष किया है।उन्होंने हमेशा गरीब,मजदूर और दबे कुचले समाज की लड़ाई लड़ी है, मौजूदा दौर में जब देश में संप्रदायिक राजनीति हो रही है ऐसे दौर में मुलायम सिंह यादव का दुनिया से चले जाना देश की राजनीति के लिए बड़ी क्षति है। 

    इस दौरान उन्होंने अखिलेश यादव उनके परिजनों और सभी शोकाकुल परिवार के प्रति अपनी संवेदना जताई।बता दें कि मौलाना अरशद मदनी के मुलायम सिंह यादव से काफी करीबी संबंध रहे हैं और उनके कहने पर ही वर्ष 2014 में अखिलेश सरकार में मुलायम सिंह यादव ने सहारनपुर में स्थित मेडिकल कॉलेज को का नाम शेख उल हिंद हजरत मौलाना महमूद हसन देवबंदी के नाम से किया था।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.