Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    रायबरेली। बीएसए के औचक निरीक्षण से स्कूलों में हडकंप, अव्यवस्थाओ पर जताई कड़ी नाराजगी।

    ..............फील्ड में बात करती मिली शिक्षिकाओं को लगाई फटकार, स्पष्टीकरण मांगा

    ............ स्कूल में बिना सूचना गायब मिले गुरु जी उपस्थित रजिस्टर किया जब्त

    रायबरेली। शनिवार को बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवेन्द्र प्रताप सिंह ने जिले के कई स्कूलो का निरीक्षण किया। लापरवाह शिक्षको को जमकर फटकार लगाई। शनिवार की सुबह बीएसए शिवेन्द्र प्रताप सिंह इसके बाद वह कंपोजिट विद्यालय फतेहपुर महोलिया विकास क्षेत्र राही का निरीक्षण किया गया जिसमें 118 बच्चे नामांकित के सापेक्ष मात्र 72 बच्चे उपस्थित मिले जिस पर बीएसए संबंधित हेड मास्टर को उपस्थिति बढ़ाने का निर्देश दिया। वहां सहायक शिक्षिका दीपा सिंह , नूरजहां व लता सिंह तथा शिक्षामित्र प्रीति फील्ड पर बैठकर आपस में बातचीत करती हुई पाई गई। जिस पर बीएसए द्वारा नाराजगी व्यक्त की और फटकार लगाई कार्यालय को उक्त अध्यापिकाओं के लिए स्पष्टीकरण बनाने हेतु निर्देश दिए। 

    इसके वह जगतपुर के प्राथमिक विद्यालय पूरे फूलसिंह का निरीक्षण करने पहुंचे तो वहां प्रधानाध्यापक सुनील सिंह अनुपस्थित मिले। उन्होने नाराजगी जताते हुए उनके खिलाफ विभागीय कार्यवाही के लिए के लिए कहा। उन्हे कई बार  प्राथमिक विद्यालय पूरे फूल सिंह की शिकायत भी मिली थी जिसमे बताया गया था कि प्रधानाध्यापक महीने में एक -दो दिन ही आते हैं । विद्यालय का कार्य वहां मौजूद शिक्षक व शिक्षिकाएं देखती हैं । जिसमें इंचार्ज प्रधानाध्यापक सुनील कुमार सिंह बिना किसी सूचना के अनुपस्थित पाए गए। अध्यापक उपस्थिति रजिस्टर देखने पर यह जानकारी हुई की वह इससे पहले भी बिना सूचना के अनुपस्थित हो गए थे। जिस पर संबंधित खंड शिक्षा अधिकारी ने उनको चेतावनी भी दी थी। उसके बाद भी  हेड मास्टर की कार्य शैली में कोई सुधार नही हुआ। जिस पर बीएसए शिवेन्द्र प्रताप सिंह ने कड़ी  कार्रवाई करने के लिए कार्यालय को निर्देशित किया गया। साथ ही विद्यालय का अध्यापक उपस्थिति पंजिका भी जप्त कर ली गई । जिसमें पूर्व में इनके द्वारा लिए गए चिकित्सीय अवकाश की जांच की जा रही है। 

    यह सही है अथवा गलत पोर्टल पर इनका अंकन किया गया या नही। जब वह उस विद्यालय पहुंचे तो वहां का नजारा देखकर दंग रह गए उनका पारा चढ़ गया उन्होंने सभी शिक्षक व शिक्षिकाओं से कहा कि बच्चों के साथ खिलवाड़ न किया जाए शिक्षण कार्य ठीक ढंग से किया जाए।विकासखंड के एक दर्जन प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों का जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवेन्द्र प्रताप सिंह ने  आकस्मिक निरीक्षण किया। कई विद्यालयों में उनके पहुंचते ही  हड़कंप मच गया । शिक्षक कमरों में शिक्षण कार्य करते नजर आए । प्राथमिक विद्यालय व उच्च प्राथमिक विद्यालय उंडवा पूरे बरवन ,जगतपुर, जिगना आदि का उन्होने निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होने शिक्षकों को हिदायत भी दी। उन्होने  कहा कि शिक्षण कार्य में कोई कोताही न की जाए। बच्चों को शिक्षण के साथ-साथ खेलकूद व अन्य शिक्षा भी दी जाए। इसके बाद  कम्पोजिट विद्यालय पूरे बर्मन निरीक्षण किया। जिसमें कुल 99 नामांकित बच्चों के सापेक्ष 65 बच्चे उपस्थित मिले तथा रजनी गोयल सहायक अध्यापक ऑनलाइन सीएल पर थी तथा बाउंड्री वॉल व टेली करना होने पर संबंधित हेड मास्टर को प्रधान से समन्वय स्थापित कर सहयोग करने का निर्देश दिया। 

    जिला समन्वयक एमआईएस अविलय सिंह और जिला समन्वयक निर्माण सत्यम ने महराजगंज के कंपोजिट विद्यालय कुशमंडी सागरपुर  का निरीक्षण किया। जिसमें बृजपाल सिंह शिक्षामित्र एक तारीख से लगातार बिना किसी सूचना के अनुपस्थित चल रहे हैं। जिस पर संबंधित प्रधानाध्यापक ने अवगत कराया। उक्त शिक्षा मित्र की सूचना खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय को दी जा चुकी है।साथ ही विद्यालय में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं ने बताया कि प्रत्येक सोमवार को फल व प्रत्येक बुधवार को दूध नियमित रूप से दिया जाता है।प्राथमिक विद्यालय हलोर  का निरीक्षण किया। जिसमें कुल नामांकित 200 बच्चों के सापेक्ष मात्र 134 बच्चे ही उपस्थित मिले जिस पर संबंधित प्रधानाध्यापक को उपस्थिति बढ़ाने हेतु निर्देशित किया गया और  सपना गुप्ता सहायक अध्यापक द्वारा छात्रों का पढ़ाई न कराके आराम करते हुए पाई गई।जिसपर कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया। तथा कन्या पूर्व माध्यमिक विद्यालय हलोर की स्थित अच्छी पाई गई जहां पर 288 कुल नामांकित बच्चों के सापेक्ष 248 बच्चे उपस्थित मिले। जिस पर संबंधित प्रधानाध्यापक की प्रशंसा की गई वह विद्यालय कैंपस अच्छा पाया गया।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.