Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। विश्व खाद्य दिवस पर ज्योति बाबा की भूख से जंग की अपील, बने खाद्य नायक, किसी को पीछे ना छोड़े।

    ......... हर व्यक्ति तक सुरक्षित और पौष्टिक भोजन की पहुंच मौलिक मानव अधिकार है...ज्योति बाबा

    इब्ने हसन ज़ैदी

    कानपुर। विश्व खाद्य दिवस का उद्देश्य हर व्यक्ति तक सुरक्षित और पौष्टिक भोजन की पहुंच को सुनिश्चित करना है साथ ही कुपोषण और भुखमरी के लिए जागरूकता फैलाना है इसका उद्देश्य लोगों को यह भी समझाना है कि भोजन एक बुनियादी जरूरत और मौलिक मानव अधिकार है उपरोक्त बात नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल के तहत सोसायटी योग ज्योति इंडिया व सोशल ऑडिट उत्तर प्रदेश के संयुक्त तत्वाधान में विश्व खाद्य दिवस के अवसर पर आयोजित ई-संगोष्ठी शीर्षक "बेहतर उत्पादन,बेहतर पोषण,बेहतर वातावरण और बेहतर जीवन सभी का मौलिक मानव अधिकार" पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान ज्योति बाबा ने बताया कि कुपोषण जितना बढ़ता जाएगा नशा उतना ही ज्यादा लोगों को अपने शिकंजे में लेता जाएगा। 

    क्योंकि कुपोषण के कारण उत्पन्न तनाव,कुंठा और अवसाद का हल किशोर नशे में खोजेगा इसीलिए बच्चों को जंक फूड से हो रहे कुपोषण से बचाकर ही हम स्वस्थ एवं बेहतर लाइफस्टाइल दे सकते हैं। रेलवे सलाहकार बोर्ड के सदस्य कमरुद्दीन उर्फ जुगनू ने कहा कि विश्व खाद्य दिवस के माध्यम से आइए हम सब मिलकर भूख मिटाने की समस्या का समाधान करें।  अंत में सभी को स्वस्थ एवं सेहतमंद भोजन दिलाने हेतु सम्मिलित प्रयास करने का संकल्प योग गुरु ज्योति बाबा ने कराया। अन्य आगरा से भोला जैन,झांसी से इंजीनियर विनोद कुमार वर्मा,चंद्र पेंटर,जिला प्रभारी लखनऊ,अनिल अग्रवाल इत्यादि प्रमुख थे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.