Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर ज्योति बाबा का नशा मुक्त आवाहन।

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। समाज में नशा,मोबाइल और युवा प्यार का दायरा काफी बढ़ चुका है युवा नशा,गर्लफ्रेंड व नवीन मोबाइल को स्टेटस से जोड़ते हैं धीरे-धीरे यह सब आर्थिक स्थिति कमजोर करते हुए मानसिक सेहत खराब करते हैं और परिणाम स्वरूप तनाव,अवसाद,आत्महत्या करने की इच्छा जैसे मनोरोगों का जन्म होता है यदि उपचार समय पर नहीं मिला तो एक हंसता मुस्कुराता व्यक्ति जिंदगी के आनंद से वंचित हो जाता है इसीलिए कहा जाता है कि सकारात्मक दिनचर्या से ही खुशहाल जीवन प्राप्त किया जा सकता है। 

    उपरोक्त बात नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल के तहत सोसायटी योग ज्योति इंडिया व आम्रपाली ग्रुप आफ हॉस्पिटल्स के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के परिप्रेक्ष्य में आयोजित वेबीनार शीर्षक क्या नशा हमारी मानसिक सेहत के लिए कैंसर है पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख नशा मुक्त समाज आंदोलन के नेशनल ब्रांड एंबेस्डर योग गुरु ज्योति बाबा ने कही,ज्योति बाबा ने आगे कहा कि हर वर्ष 10 अक्टूबर को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस लोगों में मनोरोगों के प्रति जागरूकता हेतु मनाया जाता है इस वर्ष की थीम है अन्य प्रमुख नशा मुक्त स्वास्थ्य सैनिक औरैया से पारस दुबे,लखनऊ से मोनू रावत,मुंबई से रोनित निर्मलजीत राज जय किशन निषाद ऋषभ श्रीवास्तव,प्रदेश उपाध्यक्ष अंजु सिंह इत्यादि थी।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.