Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहांपुर। नए जेल अधीक्षक मिजाजी लाल ने बदला जेल का मिजाज, जेल का खाना पांच सितारा होटल जैसा।

    फै़याज़ उद्दीन\शाहजहांपुर। जेलों में बंद क़ैदियों को मिलने वाले खाने को लेकर समाज में अक्सर लोगों में यह विश्वास है कि खाना बहुत खराब मिलता है। कोई कहता है कि आटा पैरों से गूंदा जाता है।कोई कहता है कि खाना जूतों में दिया जाता है।बहरहाल यह आम विश्वास है कि खाना बहुत खराब दिया जाता है। किन्तु वास्तविकता ऐसी नहीं है। शाहजहांपुर जेल में खाना अत्याधुनिक मशीनों से तैयार किया जाता है।जैसा किसी भी पांच सितारा होटल में तैयार होता है।आटा व सभी मसाले साबुत मंगाकर जेल पर लगी आटा व मसाला चक्कियों पर तैयार किए जाते हैं। साबुत गेहूं,मसाले साफ करने के लिए आटोमैटिक मशीनें हैं।सभी मसाले,दालें, तेल, रिफाईंड, चाय आदि ब्रांडेड व सीलबंद आती है।गेहूं साफ करने से लेकर आटा गूंदने,रोटियां बनाने से लेकर सेंकने तक सभी आटोमैटिक मशीनों से तैयार की जाती है। रोटियां बनाने से लेकर चावल, चाय, नाश्ता आदि भी 200-200,500-500 लीटर के बड़े बड़े प्रेशर कुकरों में तैयार किया जाता है।

    मीनू भी सभी पौष्टिक तत्वों के हिसाब से तैयार किया गया है।पूरे सप्ताह लन्च व डिनर में बदल बदल कर दालें,सब्ज़ियां, राजमा,सोयावडी व दालबडी की भी व्यवस्था है। मेरे इस कारागार पर तैनाती के बाद से भोजन की गुणवत्ता,सफाई व पौष्टिकता व स्वाद पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।बंदियों की समस्याओ को तत्काल दूर करना, विभिन्न स्वयं सेवी संगठन व सामाजिक सहयोग से बंदियों के कल्याण कार्य ,कौशल विकास पर जोर देकर उनको मानवीय व सम्मानजनक वातावरण उपलब्ध कराने पर काम किया जा रहा है। सभी सामाजिक संगठन व व्यवसायिक घरानों,व सामाजिक क्षेत्र में काम करने वाले सम्मानित महानुभावों से अनुरोध है कि वे आगे आकर इस कार्य में सहयोग करें।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.