Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहाँपुर। पीड़ित मानवता की सेवा करना सबसे बड़ा धर्म है: विनय अग्रवाल

    शाहजहाँपुर। हनुमतधाम रोड स्थित परी मैरिज लॉन में आयोजित शिव सत्संग मण्डल के वार्षिक धर्मोत्सव में समाजसेवी विनय अग्रवाल ने कहा कि पीड़ित मानवता की सेवा करना सबसे बड़ा धर्म है। नर सेवा,नारायण सेवा हैं।भूखे असहाय की मदद करें। जीवन कमाया हुआ धन ,वैभव सब यहीं रह जाता है। अग्रवाल ने कहा  कि सेवा से पुण्य मिलता है।वही साथ रहता है।मैंने कैलाश मानसरोवर यात्रा भगवान भोलेनाथ की कृपा से की।आज भी आनंदित हूं।मण्डल के अध्यक्ष आचार्य अशोक ने कहा कि परमेश्वर के ध्यान और भजन से ही समग्र जीवन का कल्याण संभव है।उन्होंने कहा कि आध्यात्मिकता व भक्ति मार्ग पर चलकर संतों भक्तों ने परमात्मा को साधा है।उन्होंने कहा कि एक गृहस्थ व्यक्ति के लिए यही उचित है कि वह भक्ति और कर्म के मार्ग पर अग्रसर रहे।

    धर्मोत्सव में लखनऊ मण्डल के अध्यक्ष राजेश पाण्डेय, लखीमपुर के जिला प्रमुख जमुना प्रसाद, हरदोई के जिला महामंत्री रवि लाल, वरिष्ठ सत्संगी रामअवतार, व्यवस्था प्रमुख यमुना प्रसाद , हरदोई के जिलाध्यक्ष एवं प्रचारक प्रेम भाई,नन्हें लाल एवं राष्ट्रीय महामंत्री त्रिपुरेश पांडेय ने ध्यान और भजन को समग्र जीवन की सफलता का आधार बताया। भजनो पदेशक राम चन्द्र,भैयालाल,राम सनेही एवं बहन नेहा,अंशुलता,सरस्वती आदि ने प्रेरणादाई भजन सुनाए।

    मण्डल के केन्द्रीय संयोजक अम्बरीष कुमार के संचालन में हुए धर्मोत्सव का शुभारम्भ शाहजहांपुर के प्रमुख समाजसेवी विनय अग्रवाल ने दीप प्रज्ज्वलित कर एवं सत्संगी श्री कृष्ण की सामूहिक ईश प्रार्थना से हुआ। सत्संगी रजनीश सक्सेना,रवि वर्मा,डॉ रोहित वर्मा,हरिओम,वेद प्रकाश,महात्मा राम सागर,देव सिंह,स्वामी दयाल,बाबूराम, अंकुर कटियार एवं सुबोध आदि ने धर्मोत्सव को भव्य बनाने में विशेष योगदान दिया। समापन पर सभी सत्संगी बन्धुओं और बहनों ने रोजाना ब्रह्ममुहुर्त में उठकर परमेश्वर का सुमिरन करने का शिव संकल्प लिया।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.