Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सम्भल। विदेशी करेंसी जमा करने का शौक रखते है रफीक।

    उवैस दानिश\सम्भल। आज हम आपको एक ऐसे शख्स से रूबरू कराने जा रहे हैं, जो बचपन से ही विदेशी करेंसी जमा करने के शौकीन हैं। उनके पास लगभग 11 देशों की विदेशी करेंसी के साथ ही प्राचीन भारतीय मुद्रा भी है। वह इन्हें संभाल कर यादगार के तौर पर रखते हैं।

    हर कोई अपने किसी न किसी शौक के कारण सुर्खियों में रहता है। जिसे उस कारण से वहां के लोग भी पहचानते हैं। हम बात कर रहे हैं जनपद सम्भल के सदर कोतवाली क्षेत्र के मौहल्ला चमन सराय के मौहम्मद रफीक अब्बासी की, जिन्हें बचपन से ही विदेशी करेंसी के साथ भारतीय प्राचीन मुद्रा जमा करने का शौक है। सदर कोतवाली क्षेत्र के शंकर कॉलेज चौराहे पर यह पान की दुकान पर बैठते थे। वहीं से इन्होंने विदेशी करेंसी को जमा करना शुरू किया। इनके पास कतर, सऊदी अरब, इराक, अमरीका, दुबई, पाकिस्तान, नेपाल के अलावा अन्य देशों की करंसी के साथ भारतीय प्राचीन मुद्रा है। 

    मौहम्मद रफ़ीक़

    अलग अलग देशों की करंसी रखने वाले रफ़ीक़ बताते है कि मुझे बचपन से ही विदेशी करंसी रखने का शौक है। मेरे पास कतर, सऊदी अरब, इराक, अमरीका, दुबई, पाकिस्तान, नेपाल के अलावा अन्य देशों की करंसी के साथ भारतीय प्राचीन मुद्रा भी है। शंकर कॉलेज चौराहे पर मेरी पान की दुकान थी जहां से मुझे करंसी जमा करने का शौक पढ़ा था।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.