Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बाराबंकी। एशिया कप में भारत का प्रतिनिधित्व नहीं किये जाने पर जताया एतराज।

     .......... पड़ोसी पाकिस्तान कभी हमारा हिस्सा हुआ करता था- राजनाथ

    बाराबंकी। भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश का महासंघ बनाओ के संयोजक एवं गांधीवादी चिंतक राजनाथ शर्मा ने पाकिस्तान में होने वाले एशिया कप में भारत का प्रतिनिधित्व न किए जाने पर एतराज़ जताया है। उन्होंने बीसीसीआई के सचिव जय शाह के बयान की निंदा की है, जिसमें उन्होंने कहा है कि अगले साल होने वाले एशिया कप के लिए भारतीय क्रिकेट टीम पाकिस्तान नहीं जाएगी। 

    जिनके बयान की कड़ी आलोचना करते हुए राजनाथ शर्मा ने कहा कि खेलकूद, शिक्षा और सांस्कृतिक गतिविधियों से देश का मान-सम्मान बढ़ता है। भारत और पाकिस्तान के बीच राजनीतिक रिश्ते आज भी बरकरार है। पाकिस्तान हमारा पड़ोसी मुल्क़ है। जो कभी भारत का हिस्सा हुआ करता था। लेकिन विभाजन के कारण दोनों देश के बीच आपसी मतभेद आज भी कायम है। जिसे सुलझाया जाना चाहिए। ऐसी स्थिति में खेलकूद, शिक्षा एवं सांस्कृतिक गतिविधियां एक अच्छा माध्यम हो सकता है। हमें वैचारिक आदान-प्रदान में वैमनष्यता के भाव नहीं लाना चाहिए।

    उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आज भी जो अल्पसंख्यक और बहुसंख्यक लोग है उनके रिश्ते भारत पाक दोनों मुल्कों में बने हुए है। ऐसी दशा में भारतीय क्रिकेट टीम के खेलने न जाने से दोनों देशों के खिलाड़ियों के साथ साथ भारत और पाकिस्तान के खेल प्रेमियों, प्रशंसकों और करोड़ों देशवासियों के मनोभाव पर असर पड़ेगा। और अंर्तराष्ट्रीय स्तर पर वैचारिक प्रतिष्ठा पर भी आघात पहुंचेगा। कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत सरकार के खेल मंत्रालय से आग्रह किया है कि वह भारतीय खिलाड़ी को तुरंत एशिया कप में शामिल की अनुमति प्रदान करे। उन्होंने कहा कि किसी व्यक्ति विशेष या दल विशेष के विचार पूरे भारतीय जनमानस का विचार नहीं हो सकता हैं। मेरा मानना है कि अधिकांश लोग इस राय के होंगे कि खेल कूद, पर्यटन, तीर्थाटन, देशाटन और भारत पाक की संयुक्त संस्कृति को कायम रखने के लिए दोनों देशों की सरकारों को संयुक्त प्रयास करना चाहिए। जिससे नई पीढ़ी में नफरत की भावना पैदा न हो सके।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.