Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। छठे दीपोत्सव के अवसर पर प्रधानमंत्री के आगमन के मद्देनजर मुख्यमंत्री ने किया स्थलीय निरीक्षण और दिया आवश्यक निर्देश।

    ....... निर्देशदीपोत्सव के लिए दीपों की संख्या के साथ घाट समन्वयकों को दायित्वों से अवगत कराया गया,

    22 हजार वॉलिंटियर जलाएंगे 17 लाख दीप

    देव बक्श वर्मा 

    अयोध्या। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की धर्म नगरी अयोध्या को  अंतरराष्ट्रीय  ख्याति और विश्व के मानचित्र पर स्थापित करने के लिए  हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं!  छठे दीपोत्सव में  17 लाख  दीप जलाकर  कीर्तिमान स्थापित किया जाएगा!  वहीं पर इस बार  भारत के प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी  भी दीपोत्सव का हिस्सा बनेंगे!  दीपोत्सव में अयोध्या को  बड़ा उपहार मिलने के आसार प्रबल हैं! प्रधानमंत्री के आगमन के मद्देनजर साकेत महाविद्यालय पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया निरीक्षण बनाए जा रहे हेलीपैड का किया स्थलीय निरीक्षण। प्रधानमंत्री के अयोध्या आगमन को लेकर जनपद उत्साहित है। प्रधानमंत्री साकेत महाविद्यालय में हेलीकॉप्टर से उतरेंगे उसके बाद जिन जिन स्थानों पर जाना है उन उन स्थलों का मुख्यमंत्री ने निरीक्षण किया । दीपोत्सव में कई विशिष्ट अतिथि और विदेशी मेहमान भी शामिल होंगे। कई देश की रामलीला होता यहां पर मंचन होगा पूरे देश के कलाकार दीपोत्सव में प्रदर्शन करेंगे। इसके अलावा नगर निगम के हर चौराहे पर रंगोली सजाई जाएगी। दीपक जलाए जाएंगे।संपूर्ण  सभ्यता से दीपोत्सव मनाया जाएगा। जनपद के सभी चौराहों पर मनाई जाएगी दीपावली सजाई जाएगी रंगोली।

    • राज सदन मे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या राजा विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्रा से की मुलाकात। 

    दीपोत्सव के दौरान विदेशी मेहमानों के स्वागत और सह भोज के लिए वार्ता किया। दक्षिण कोरिया के प्रथम नागरिक के लिए भेजा गया है निमंत्रण। दक्षिण कोरिया से अयोध्या राज परिवार का है पुराना नाता। अयोध्या की राजकुमारी दक्षिण कोरिया की थी महारानी। विदेशी मेहमानों के राज शाही  स्वागत के लिए  हुई  वार्ता।

     डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा रामनगरी अयोध्या में दीपोत्सव को भव्य बनाने के लिए सभी घाटों के दीपों की संख्या के निर्धारण के साथ घाट समन्वयकों व स्वयंसेवकों को नियुक्त किया जा चुका। उनकों दायित्वों से अवगत कराते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 अखिलेश कुमार सिंह के दिशा-निर्देशन में दीपोत्सव नोडल अधिकारी व विवि सलाहकार समिति के अध्यक्ष प्रो0 अजय प्रताप सिंह ने इसे अंतिम रूप दिया। विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा उत्तर प्रदेश शासन के 15 लाख दिए गए जलाने के लक्ष्य के सापेक्ष 17 लाख दीए राम की पैड़ी पर बिछाये व जलाये जायेंगे। इसके लिए विश्वविद्यालय आवासीय परिसर, सम्बद्ध महाविद्यालयों व स्वयंसेवी सस्थाओं के लगभग 22 हजार वालंटियर्स लगाये गये है। सभी दीए घाट समन्वयकों की निगरानी में जलाये जायेंगे। इस संबंध में दीपोत्सव नोडल अधिकारी  ने सभी घाटों पर दीपों की संख्या के साथ स्वयंसेवकों का निर्धारण कर दिया है। घाट संख्या एक पर 67500 दीपों के सापेक्ष 974 स्वयंसेवक दीप जलायेंगे। 

    घाट दो पर 35200 दीपों के लिए 559 स्वयंसेवक, घाट तीन पर 48500 के लिए  624 स्वयंसेवक, घाट चार पर 56500 दीपों के लिए 739 स्वयंसेवक, घाट पांच पर 23000 के सापेक्ष 323 स्वयंसेवक, घाट छ पर 28500 दीप हेतु 308 स्वयंसेवक, घाट सात पर 63700 के सापेक्ष 804 स्वयंसेवक वहीं घाट आठ पर 69600 दीपकों के लिए 743 स्वयंसेवक, घाट नौ पर 78200 के लिए 840 स्वयंसेवक, घाट दस पर 85500 के सापेक्ष 840 स्वयंसेवक, घाट ग्यारह पर 75500 के लिए 752 स्वयंसेवक, घाट बारह पर 95000 के सापेक्ष 782 स्वयंसेवक, घाट तेरह पर 33300 के सापेक्ष 356 स्वयंसेवक, घाट चैदह पर 42900 दीप हेतु 481 स्वयंसेवक, घाट पंद्रह पर 44800 के लिए 500 स्वयंसेवक, घाट सोलह पर 20000 के सापेक्ष 250 स्वयंसेवक, घाट सत्रह पर 50400 के लिए 593 स्वयंसेवक, घाट अठारह पर 52000 के सापेक्ष 550 स्वयंसेवक, घाट उन्नीस पर 22500 के सापेक्ष 350 स्वयंसेवक, घाट बीस पर 22200 के सापेक्ष 600 स्वयंसेवक, घाट इक्कीस पर 6000 हेतु 102 स्वयंसेवक, घाट बाइस पर 6000 के सापेक्ष 75 स्वयंसेवक, घाट तेइस पर 6700 के लिए 149 स्वयंसेवक, घाट चैबीस पर 8500 के सापेक्ष 101 स्वयंसेवक, घाट पच्चीस पर 16600 के सापेक्ष 300 स्वयंसेवक, घाट छब्बीस पर 16000 दिए हेतु 183 स्वयंसेवक, घाट सताईस पर 14000 के लिए 212 स्वयंसेवक, घाट अठाईस पर 50000 के सापेक्ष 675 स्वयंसेवक, घाट उन्तीस पर 50000 के सापेक्ष 663 स्वयंसेवक, घाट तीस पर 32000 के लिए 400 स्वयंसेवक, घाट इक्तीस पर 18000 के लिए 400 स्वयंसेवक, घाट बत्तीस पर 18200 के सापेक्ष 400 स्वयंसेवक, घाट तैतीस पर 15000 के लिए 176 स्वयंसेवक, घाट चैतीस पर 16000 के सापेक्ष 329 स्वयंसेवक, घाट पैतीस पर 12000 के लिए 294 स्वयंसेवक, घाट छत्तीस पर 160000 के सापेक्ष 2019 स्वयंसेवक, घाट सैतीस पर 230000 दीयों के लिए 2225 स्वयंसेवक तथा घाट के कैनाल के दोनों ओर 15000 दीए बिछाने के लिए 101 स्वयंसेवक नियुक्त किए गए है।

    23 अक्टूबर को होने वाले दीपोत्सव की तैयारियां पूरी की जा चुकी है। 20 तारीख से घाटों पर दीए रखने का कार्य शुरू हो जायेगा। 21 से 22 अक्टूबर तक सभी घाटों पर दीए बिछाने का कार्य पूर्ण हो जायेगा। घाट समन्वयकों को उनके आवंटित दायित्वों से अवगत करा दिया गया है। इस बार के दीपोत्सव को लेकर स्वयंसेवक काफी उत्साहित है और पूरी सतर्कता के साथ दीप प्रज्ज्वलित करेंगे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.