Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। मां सिद्धदात्री के पूजन के लिए मंदिरों पंडालों में उमड़ा भक्तों का सैलाब।

    मूर्ति विसर्जन आज,सभी तैयारियां पूरी, रंग बिरंगी रोशनियों से नहाया पूरा शहर

    अयोध्या। शारदीय नवरात्र के नवमी पर्व पर मंगलवार को देवी मंदिरों में सुबह से भीड़ लगी रही। भक्त मां के सिद्धिदात्री स्वरूप की आराधना करते नजर आए। उधर देवी मंदिरों में जन आस्था का ज्वार उमड़ते हुए दिखाई दिया। इस बीच व्रत रखने वाले श्रद्धालुओं ने हवन-पूजन के साथ अनुष्ठान की पूर्णाहुति किया। जो साधक व श्रद्धालु पूरे नवरात्र का व्रत कर रहे थे, वे सभी हवन-पूजन कर अनुष्ठान की पूर्णाहुति किये।तीन दिवसीय दुर्गा पूजा पंडालों में मंगलवार रात भक्तों की भारी भीड़ लगी रही।

    रामनगरी में महानवमी पर देवी स्वरूपा कन्याओं का भक्तों ने विधि विधान के साथ पूजन अर्चन किया। नगर के छोटी देवकाली मंदिर, बड़ी देवकाली मंदिर, मरी माता मंदिर, मां पाटेश्वरी देवी मंदिर, मां हट्ठी महारानी मंदिर, शीतला माता मंदिर, गुरुगाइन मंदिर, अष्टभुजी देवी मंदिर ऋणमोचन घाट शायर देवी मंदिर व जालपा देवी मंदिरों में सुबह से ही अपार भीड़ माता के दर्शन-पूजन के लिए उमड़ी। इन सभी को कतारबद्ध कर दर्शन कराया गया। राम नगरी में विराजमान मां दुर्गा के स्वरूप का दर्शन करने के लिए अयोध्या और अयोध्या धाम के पंडालों में भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। जो देर रात तक चलती रही। नाका चुंगी से लेकर चौक तक लगे विभिन्न दुर्गा पूजा पंडालों में मां के दर्शन के लिए जनसैलाब उमड़ा। वहीं रंग बिरंगी रोशनियों से पूरे शहर को सजाया गया, जो भक्तों को स्वर्ग की अनुभूति करा रहा था।

    दुर्गा प्रतिमाएं चार अक्टूबर को रात्रि 12 बजे हवन पूजन के साथ विसर्जन के लिए पूजा पंडालों से जीआईसी मैदान पहुंचाई जाएंगी। यह जानकारी केन्द्रीय दुर्गा पूजा एवं रामलीला समन्वय समिति के अध्यक्ष मनोज जायसवाल ने दी है। उन्होंने बताया कि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच जीआईसी से पांच अक्टूबर को प्रातः 11 बजे से मां दुर्गा प्रतिमा विसर्जन शोभायात्रा प्रारम्भ होगी जो फतेहगंज चौराहा, चौक, रिकाबगंज होते हुए सहादतगंज हनुमानगढ़ी के रास्ते निर्मली कुंड जाएगी जहां प्रतिमाओं का देर रात तक विसर्जन होगा। विसर्जन शोभायात्रा को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए केन्द्रीय दुर्गा पूजा समिति ने ग्राफ तैयार किया गया है। अध्यक्ष जायसवाल ने बताया कि केंद्रीय समिति के पदाधिकारियों की विसर्जन व्यवस्था के लिए ड्यूटी लगाई जा चुकी है। विसर्जन घाट की तैयारियां भी अंतिम चरणों में हैं। विसर्जन के दिन शोभायात्रा के मार्ग पर नौ जगह मेला कैंप लगाकर शहर के गणमान्य नागरिक और केंद्रीय समिति के पदाधिकारी शोभायात्रा को गतिमान बनाए रखने के लिए मौजूद रहेंगे। केंद्रीय समिति की ओर से सभी दुर्गा पूजा और रामलीला समितियों के लिए एडवाइजरी जारी की गई है।

    मूर्ति विसर्जन यात्रा में ट्रैक्टर ट्राली पर प्रतिबंध

    कानपुर में ट्रैक्टर ट्राली पलटने के बाद हुए बड़े हादसे को लेकर सरकार चिंतित है। प्रदेश सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी के मद्देनजर जिला प्रशासन ने भी दुर्गा पूजा समितियों को सभी मूर्तियां डीसीएम मैजिक आदि पर ही विसर्जन घाट तक ले जाने की हिदायत दी है।प्रशासन ने साफ चेतावनी दी है की ट्रैक्टर ट्राली का प्रयोग करने वालो के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.