Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    वाराणसी। व्रती महिलाओं ने अस्ताचलगामी सूर्य को दिया अर्द्ध।

    ......... काँचे ही बांस के बहंगिया गाते हुवे लाखो परिवारों ने घाटों और कुंडों पर लगाई आस्था की डुबकी

    वाराणसी। लोक आस्था के महापर्व छठ का रंग वाराणसी समेत पूरे पूर्वांचल में देखने को मिल रहा है। रविवार शाम काशी के घाटों पर अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देने के श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। सिर पर दउरा लेकर घाटों पर जाते घर के मर्द, सोलह श्रृंगार में सजकर मौसमी फलों से भरा सूप सिर पर उठाए घाट की ओर जातीं व्रती महिलाएं और उनके परिजन। दीपों और गन्नों की ढेरियों से सुसज्जित सुशुभिताएं। मारवो रे सुगवा... जैसे गीत गाती महिलाएं। पटाखे जलाते बच्चे, ढोल नगाड़े के बीच छठ मइया के जयकारों से गूंजते गीत। कुछ ऐसा ही नजारा रविवार शाम काशी के हर घाट पर दिखा। पूजन-अर्चन के दौरान नजारा अलौकिक रहा। गंगा घाटों, कुंडों और सरोवरों पर दो साल बाद इतनी बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। अस्सी और दशाश्वमेध समेत विभिन्न घाटों पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जुटी। गंगा घाटों के साथ शहर के कुंडों, तालाब व सरोवरों की सजावट की गई है। कहीं शहनाई बज रही है तो कहीं बैंड बाजे। 

    इस विहंगम दृश्य को देखने के लिए दूर-दराज से तो लोग आए ही विदेशियों के लिए यह मेला किसी अचरज से कम नहीं है। नहाय खाय के साथ शुक्रवार को शुरू चार दिन का यह पर्व सोमवार को उदयगामी सूर्य को अर्घ्य देने के बाद पूरा होगा। घरों में हौज तो कुछ घरों में स्वीमिंग पूल में आयोजन हो रहा है। व्रती महिलाएं परिवार की खुशहाली व सुख समृद्धि के लिए पूजा कर रही हैं। खरना के बाद रविवार को छठ का तीसरा दिन था। रविवार को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया गया। जबकि सोमवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। वाराणसी समेत पूर्वांचल के अन्य जिलों के घाटों पर छठ व्रती महिलाओं ने डूबते हुई सूर्य को अर्घ्य देकर भगवान भास्कर की उपासना की। अर्घ्य को लेकर काशी के गंगा घाटों, कुंडों और सरोवरों पर खास व्यवस्था की गई है। 

    वाराणसी कमिशनरेट के समस्त प्रमुख घाटों एवं कुंडों पर समुचित सुरक्षा व्यवस्था लगाई गई है। डीसीपी काशी एवं वरुणा को निर्देशित किया गया है कि प्रमुख पूजा स्थानों का स्वयं भ्रमण करें। एडीसीपी ट्रैफिक को टास्क दिया गया है कि श्रद्धालुओं को यातायात संबंधित कोई असुविधा न हो। कमिशनरेट के सभी एंटी रोमियो स्क्वाड की ड्यूटी संवेदनशील इलाकों में लगाई गई है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.