Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गाजीपुर। अस्पताल में इंजेक्शन लगाने से हुई महिला की मौत, परिजनों ने जमकर किया हंगामा,की कार्रवाई की मांग।

    महताब आलम\गाजीपुर। उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में डाक्टरों की लापरवाही सामने देखने को मिली। जहां एक गलत लगाने से महिला की मौत का आरोप परिजनों ने लगाया। इस मामले पर परिवार की ओर से पूरे दिन प्रदर्शन चलता रहा। अब परिवार वाले डॉक्टरो पर एफआईआर कराने के लिए अडे़ हुए हैं।

    गाजीपुर राजकीय मेडिकल कॉलेज के अंतर्गत संचालित होने वाला जिला अस्पताल में महिला वार्ड में उस वक्त अफरा तफरी मच गई जब एक महिला को इंजेक्शन लगाने के बाद मौत हो गई,जिसके बाद परिजनों ने डाक्टरों पर लापरवाही बरतने का गंभीर आरोप लगाते हुए डाक्टर पर मुकदमा दर्ज कराने की मांग करने लगे।

    गाजीपुर के करंडा ब्लॉक निवासी 'लीलापुर गांव' में सावित्री देवी उम्र 45 वर्ष पत्नी दशरथ को हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था, जिसके इलाज के लिए उनकी पुत्री व अन्य परिजनों ने जिला अस्पताल में 5 अक्टूबर से ही इलाज चल रहा था। जिसमें 6 तारीख को दोपहर लगभग 1:00 बजे डॉक्टर के द्वारा इंजेक्शन लगाया गया, इंजेक्शन लगाने के करीब आधे घंटे बाद महिला की मौत हो गई।

    गाजीपुर के अस्पताल में हुई इस मौत के बाद परिजनों ने डॉक्टर की लापरवाही से मरीज की मौत का आरोप लगाया मृतका के परिजन मनचंदा उपाध्याय ने बताया कि, उनकी चाची ठीक-ठाक थी। जिला अस्पताल के डॉक्टर डॉक्टर एसप चौधरी एक साथ 4 इंजेक्शन लगाया और परिजनों से बताया कि, इन्हें अब जग आएगा मौत परिजन भी आधे घंटे तक मरीज के ऊपर नहीं कहा लेकिन जब उनके शरीर में कोई हरकत नहीं देखा। तब उन लोगों ने मरीज को उठाने का प्रयास किया लेकिन उनकी मौत हो चुकी थी, अब परिवार वालों ने इस घटना पर एफ़आईआर की बात कहकर प्रदर्शन कर रहे हैं।

    वह इस मामले की जानकारी होने पर मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल आनंद मिश्रा मौके पर पहुंचे साथ ही उनके साथ कई अन्य डॉक्टर भी पहुंचे। मृतका के परिजनों से बातचीत करते हुए डॉक्टर आनंद मिश्रा ने पोस्टमार्टम डॉक्टरों के पैनल की देखरेख में कराने का बात कही। लेकिन परिजन उनकी बातों को सुनने की बजाय अपनी जिद पर कायम रहे। जबकि इस मामले पर अस्पताल की ओर से पुलिस बुला ली गई है। मामले पर जिला प्रशासन भी निगाहें बनाए हुए है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.