Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गाजीपुर। रसूलपुर बेलवा में नेताजी मुलायम सिंह यादव जी को श्रद्धांजलि अर्पित की गई, 2 मिनट का मौन रखकर नेता जी को याद किया गया।

    महताब आलम\गाजीपुर। श्रद्धांजलि सभा में समग्र विकास इंडिया के प्रवक्ता गुल्लू सिंह यादव ने बताया कि नेता जी केवल नेता ही नहीं दबे, कुचले, पिछड़े,दलित की आवाज थे। नेताजी तीन बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और एक बार भारत सरकार में रक्षा मंत्री के पद पर रहते हुए बेबाक निर्णय के लिए जाने जाते थे। रक्षा मंत्री पद पर रहते हुए नेताजी सेना के जवान के सम्मान में शहीदों के शव को घर भिजवाने का निर्णय लिया था जबकि इससे पहले सेना के शव को वहीं पर दफनाया या जलाकर अंतिम संस्कार कर दिया जाता था और टोपी उनके घर पहुंचा दी जाती थी। मुख्यमंत्री रहते हुए नेता जी ने हिंदी को महत्व देते सभी सरकारी दफ्तरों में हिंदी में कार्य करने के लिए बाध्य किया था जो आज तक सुचारू रूप से उत्तर प्रदेश में लागू है। 

    ग्राम प्रधान प्रतिनिधि कमलेश यादव ने कहा कि नेताजी को याद करने पर आंखें नम हो जाती है उनकी जमीनी लड़ाई को देखने से एक बहुत बड़ी समाज को सीख मिलती है कि कैसे समाज को आगे बढ़ाया जा सकता है। अपने बलबूते इतनी बड़ी पार्टी को खड़ा करना नेता जी के ही बस की बात थी। श्रद्धांजलि सभा में भूतपूर्व प्रधान फेकू यादव,  गुल्लू सिंह यादव ,कमलेश यादव ,बैजनाथ ,वीरेंद्र, शशि यादव, मोहम्मद अकरम ,माधव चौहान, भोला मास्टर, ग्राम प्रधान कल्पना यादव बिरजू यादव, रमेश सहित आदि लोग उपस्थित थे। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.