Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद। योगी सरकार द्वारा मदरसों के सर्वे किए जाने के फैसले को दारुल उलूम देवबंद ने बताया अफसोजनक।

    .......... आगामी 24 सितंबर को बुलाई यूपी के मदरसों की बड़ी कॉन्फ्रेंस।

    शिबली इकबाल\देवबंद। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा गैर मान्यता प्राप्त मदरसों के सर्वे किए जाने की घोषणा को लेकर विश्व विख्यात इस्लामिक शिक्षण संस्थान दारुल उलूम देवबंद ने पहली बार इस पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए इस निर्णय को अफसोसनाक बताया और इस संबंध में आगामी 24 सितंबर को मदरसों के जिम्मेदारों की कान्फ्रेंस बुलाने का फैसला किया है।सोमवार को संस्था के मोहतमिम मौलाना मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी ने बताया कि सरकार की घोषणा को ध्यान में रखकर आगामी 24 सितंबर को देवबंद में बड़ा इजलास बुलाने का फैसला किया गया है।

    इसमें प्रदेशभर के 250 से अधिक मदरसों के जिम्मेदार शामिल होंगे।दारुल उलूम के मोहतमिम मौलाना मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी ने एक बयान में कहा कि मदरसा सर्वे के बारे में जो सुना जा रहा है वह बेहद अफसोसनाक है।इस संबंध में बीते दिन संस्था के भीतर मजलिस-ए-तालीमी (शिक्षा समिति) की बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें यह फैसला लिया है कि आगामी 24 सितंबर को देवबंद में बड़ा इजलास बुलाया जाए। इसमें उत्तर प्रदेश के 250 से अधिक मदरसा संचालकों को बुलाया जाएगा। 

    उन्होंने कहा कि इजलास में मदरसों का सर्वे कराने वाली घोषणा को लेकर लाइन ऑफ एक्शन तैयार होगा या सभी लोगों का जो मशविरा होगा उस पर सहमति बनाकर संस्था आगे अपनी राय रखेगी।बता दें कि मदरसों के सरकारी सर्वे को लेकर देवबंद में होने वाले इजलास में दारुल उलूम से संबंद्ध मदरसों के नुमाईंदों को बुलाया जाएगा। इसके लिए तैयारियां शुरु कर दी गई हैं। मोहतमिम मौलाना मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी का कहना है कि इजलास में तय किया जाएगा कि सरकारी सर्वे पर क्या रुख अपनाया जाए।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.