Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    हरदोई। चहेती फर्मो को टेंडर देने का खेल: अवैध तरीके से चहेती फार्मो को दिए जा रहे करोड़ो के टेंडर।

     विजयलक्ष्मी सिंह (एडिटर-इन-चीफ)

    हरदोई। बेसिक शिक्षा विभाग में पिछले कई वर्षों से वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक द्वारा चहेती फर्मो को टेंडर देने का खेल जारी है। सरकार की लाख कोशिशों के बाद भी बेसिक शिक्षा विभाग के वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक  अपने फायदे के लिए सरकारी कोष को नुकसान पहुंचा रहे है। चहेती फर्मो को टेंडर देने में लाखों/करोड़ो वारे न्यारे कर रहे हैं। 

    ऐसा ही मामला सामने आया हरदोई के वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक अनिल कुमार सिंह द्वारा नियमो को ताख पर रख कर भ्रष्टाचार कर मोटा कमीशन वसूला जा रहा है।  इन्होंने अपनी चहेती फर्मों से आर्थिक लाभ हेतु नियम विरुद्ध तरीके से कई वर्षो से सामग्री आपूर्ति ली जा रही है। कुछ गिनी चुनी फर्मों को ही टेंडर/जेम बिड में न ली जाने वाली सामग्री जोड़ कर और न लिए जाने वाली सामग्री पर बहुत ही कम रेट डलवाकर टेंडर/जेम बिड जितवा दिया जाता है। 

    क्या है पूरा मामला 

    आपको बतादें कि वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक पर मोटे कमीशन के एवज में अपनी चहेती फर्मो को टेंडर खरीद हेतु जारी टेंडर जो कि लगभग 2.5 करोड़ का था व स्टेशनरी की बिड जो की 25 लाख की थी। उसमे अपनी चहेती फर्म को टेंडर दिलाने के लिए टेंडर में जारी किये गए सामग्री लिस्ट में कुछ एसी सामग्री भी थी। जिन्हें कभी खरीदा ही नहीं गया, स्कूलों में सामग्री खरीद के लिए शासन से आई लिस्ट में से प्रति वर्ष लगभग 30 प्रतिशत सामग्रियों का क्रय नहीं किया जाता है और उन्ही सामग्रियों के नाम चहेती फर्मो को बताकर टेंडर में उनके बहुत हि कम रेट डलवाकर टेंडर जितवा दिया जाता है। 

    पत्र में यह भी कहा गया है कि स्टेशनरी खरीद की लिस्ट में क्रम संख्या 50 पर HP की कार्टेज का भी नाम था जिसका होलसेल प्राइस भी 1500 रु से अधिक है फिर भी टेंडर जीतने वाली फर्म सभी उक्त बिड में जारी 52 सामग्रियों का कुल रेट रु 1553 डाल कर टेंडर जीत गयी। 

    पत्र में यह भी कहा गया है कि टेंडर में स्वीकृत की गयी तीन फर्म एक ही व्यक्ति विशेष से सम्बंधित होती है व जो  बाहर की फर्मो को किन कागजो की कमी के कारण अस्वीकृत किया गया बिना स्पष्ट किये अस्वीकृत कर दिया जाता है ताकि जेम के नियमानुसार मिलने वाले कम से कम दो दिन के समय में सही कागज़ अपलोड कर कोई और बिड न जीत ले। 

    ऐसे होता है खेल 

    1. कस्तूरबा आवासीय विद्यालय में 2 करोड़ 26 लाख 80 हजार रु मूल्य के राशन की जेम बिड (Bid Number: GEM / 2022/B/ 2099460 Dated: 08-04-2022) जिसमे कुल 134 सामग्री थी व 25 लाख 20 हजार मूल्य के स्टेशनरी की जेम बिड (Bid Number: GEM/2022/8/2149682 Dated: 04-05-2022) जिसमे कुल 52 सामग्री थी। उक्त दोनों ही बिड में आर्थिक लाभ के लिए हमेशा की भाँति न ली जाने वाली सामग्री को जोड़ कर व उन पर कम रेट डलवाकर एक ही चहेती फर्म को आपूर्ति का कार्य दे दिया गया।
    2. स्टेशनरी की जेम बिड (Bid Number: GEM/2022/8/2149682 Dated: 04-05-2022) जिसमे जीतने वाली फर्म ने 52 सामग्रियों के लिए 1553 रु का मूल्य भरा था जबकि उक्त बिड सामग्री लिस्ट के क्रम संख्या 50 पर HP की कार्टज थी जिसका होलसेल मूल्य हि 1500 रु से ज्यादा है फिर 1553 रु पर विभाग द्वारा कैसे, क्या व किस गुणवत्ता की सामग्री ली जा रही है व् आपूर्तिकर्ता को कितना व किस आधार पर भुगतान किया जा रहा है नहीं मालूम।
    3. जेम के नियम के अनुसार बिड के प्रतिभागियों को टेकनिकल बिड ओपन होने बाद अगर डिसक्वालीफाई किया जाता है तो उनको टेकनिकल बिड में पाई गई कमी को कमेंट बॉक्स में लिख कर डिसक्वालीफाई किया जाता है व उस कमी को पूरा करने के लिए प्रतिभागियों को दो दिन का समय दिया जाता है ताकि प्रतिभागी उक्त कमियों से सम्बंधित कागजो को अपलोड कर प्रतिस्पर्धा में शामिल हो सके परन्तु विभाग द्वारा सिर्फ " After thorough perusal by tender commitee it has been found that bidder did not fulfill the conditions of technical bid. " लिख कर प्रतिभागियों को डिसक्वालीफाई कर दिया गया ताकि वो दो दिन के मिलने वाले समय में कमियों से सम्बंधित कोई कागज़ अपलोड कर पुनः प्रतिभाग न कर सके और आर्थिक लाभ के लिए चहेती फर्म को कार्य दे दिया जाए।
    4. पूर्व में जारी कुल 1 करोड़ 16 लाख 5 हजार 2 सौ बानबे रु की निम्न बिडे एक ही फर्म को आर्थिक लाभ हेतु दे दी गयी। 
    5. इसी प्रकार कुल 21 लाख 19 हजार 9 सौ सत्तर रु की GEM/2021/B/1000184 Bid Start Date / Time: 28 01-2021 मूल्य 1099470 रु व् GEM/2021/B/958320 Bid Start Date / Time: 07-01-2021 मूल्य 1020500 रु भी एक ही फर्म को दिला दिया गया। 

    • GEM/2022/B/2261372     Bid Start Date / Time: 14-06-2022 मूल्य 638802 रु
    • GEM/2022/B/2332506   Bid Start Date / Time: 08-07-2022 मूल्य 3185
    • GEM/2022/B/2171650   Bid Start Date / Time: 21-05-2022 मूल्य 5999280 रु
    • GEM/2021/B/1236567   Bid Start Date / Time: 24-05-2021, मूल्य 4779787 रु
    • GEM/2021/B/1560762   Bid Start Date / Time: 29-09-2021 मूल्य 184238 रु
    इसी तरह कुल 5 लाख 90 हजार 9 सौ इकतालीस रु निम्न बिड भी एक ही फर्म को दिला दी गयी।
    • GEM/2021/B/1344756 Bid Start Date / Time: 09-07-2021 मूल्य 259496 रु
    • GEM/2022/B/2208778 Bid Start Date / Time: 26-05-2022 मूल्य 331445 रु

    जबकि उपरोक्त 7 टेंडरो में भाग लेने वाली व जीतने वाली फर्म एक ही व्यक्ति विशेष से सम्बंधित है। यही नहीं उपरोक्त टेंडर में गिनी चुनी उन्ही फर्मों द्वारा ही हिस्सा लिया जाता था। 

    जबकि जेम बिड के नियमानुसार आपूर्ति से पूर्व सामग्री का सैम्पल स्वीकृत किया जाता है व उसी के अनुसार ही आपूर्ति की जाती है परन्तु वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक अनिल कुमार द्वारा नियमाविरुद्ध तरीके से स्वीकृत सामग्रियों से कम व निम्न गुणवत्ता वाली सामग्री की आपूर्ति कराई जाती है।

    इसलिए जनहित के लिए उक्त प्रकरण की उच्चस्तरीय जांच कराते हुए बेसिक शिक्षा विभाग में किये जा रहे भ्रष्टाचार पर रोक लगाने व गहनता से जांच कर कार्यवाही की जाए जाने की मांग। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.