Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहांपुर। उत्तम गन्ना किसान, गन्ना समिति एवं महिला समूह होंगे पुरुस्कृत : खुशीराम

    शाहजहांपुर। जिला गन्ना अधिकारी खुशीराम ने बताया कि अच्छा गन्ना मूल्य भुगतान, चीनी परता एवं विकास कार्य करने वाली चीनी मिलो को भी पुरुस्कार दिया जाएगा। संजय आर. भूसरेड्डी अपर मुख्य सचिव चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग ने उत्कृष्ट कार्य करने वाली सहकारी गन्ना विकास समितयों, उत्कृष्ट कार्य करने करने वाले महिला स्वयं सहायता समूह, युवा गन्ना किसान, उत्कृष्ट गन्ना किसान, उत्कृष्ट कार्य करने वाली चीनी मिलो को पुरस्कृत करने के निर्देश दिये है। इसके लिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता मे टीम का गठन किया गया है। जिला गन्ना अधिकारी, जनपद के वरिष्ठतम ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक, जनपद के वरिष्ठतम सचिव, एवं चीनी मिल के जी.यम. टीम के सदस्य होंगे। यह टीम निर्थारित मानकों के अनुसार बिंदुवार अंको का निर्थारण करेंगी। चीनी मिलो के मामले में सबसे अच्छा गन्ना मूल्य भुगतान, चीनी परता, ड्राल प्रतिशत, शरदकालीन गन्ना बुवाई, गन्ना तौल आदि बिन्दुओ पर अंक दिये जायेगे।

    इसी प्रकार उत्कृष्ट गन्ना किसान या युवा गन्ना किसान को शरदकालीन गन्ना बुवाई, प्रति हे. गन्ना उत्पादन, समिति ऋण की समय से अदायगी, गन्ना खेती के साथ साथ क़ृषि विविधीकरण, गन्ना की खेती मे नवाचार का प्रयोग पर अंक दिये जायेगे। महिला स्वयं सहायता समूह मे सर्वाधिक पौध उत्पादन एवं विक्री पर अंक दिये जायेगे। जिला स्तरीय कमेटी अपनी रिपोर्ट डीएम को सौपेगी। डीएम अपनी रिपोर्ट मंडलायुक्त को भेजेंगे। पूरे मण्डल की रिपोर्ट मंडलायुक्त के माध्यम से अपर मुख्य सचिव को भेजी जायेगी। पूरे प्रदेश की 3 चीनी मिलो, 3 सहकारी गन्ना विकास समितियां, 3 महिला स्वयं सहायता समूह, 3 उत्कृष्ट गन्ना किसान, 3 युवा गन्ना किसानो का चयन किया जायेगा। प्रथम पुरुस्कार 51000 रूपये, द्वितीय पुरुस्कार 31000 रूपये एवं तृतीय पुरुस्कार 21000 रूपये नगद एवं प्रशस्ति पत्र अपर मुख्य सचिव चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग द्वारा दिया जायेगा। गन्ना पेराई सत्र 2021-22 के लिए जिलाधिकारी की तरफ से मंडलायुक्त बरेली को रिपोर्ट भेज दी गयी है। इसके साथ ही आगामी पेराई सत्र 2022-23 के लिए आवेदन भी आमंत्रित किये गये है। किसान भाई गन्ना विकास परिषद या अपने सर्किल के गन्ना पर्वेक्षक से आवेदन फार्म निःशुल्क प्राप्त कर सकते है। अधिक जानकारी के लिए ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक या जिला गन्ना अधिकारी से संपर्क कर सकते है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.