Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    नालंदा\बिहार। ग्रामीणों का विरोध।

    ऋषिकेश संवाददाता

    नालंदा\बिहार। जिला प्रशासन के द्वारा कोसुक को छठ घाट के सौंदर्यीकरण को लेकर कई वर्ष पूर्व करोडो रुपए की लागत से जीर्णोद्धार का काम कराया था, लेकिन अब इसी कौसुक छठघाट में गंदगी फैलाने को लेकर संवेदक के द्वारा नाले का निर्माण वृहत पैमाने पर किया जा रहा है। गौरतलब है कि राजगीर गया रोड में को कोसुक गांव के समीप पीएचडी के द्वारा बड़े से नाले का निर्माण कराया जा रहा है और इस नाले को कोसुक छठघाट में मिलाया जा रहा है। 

    इस नाले का काम पूरा होने के बाद इलाके का गंदा पानी इस नाले से होकर इस कोसुक छठघाट के नजदीक गिराया जाएगा। नाली निर्माण को लेकर कोसुक गांव के ग्रामीणों में विरोध उत्पन्न हो रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि इस छठघाट में पूरे बिहार शरीफ शहर के नगर निगम क्षेत्र के सभी छठव्रती अर्घ देने के लिए आती है, इतना ही नहीं कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर कोसुक छठ घाट पर बाबा चौहरमल का मेले का भी आयोजन वृहत पैमाने पर किया जाता है। जिसमें श्रद्धालु इस छठ घाट में डुबकी लगा कर पूजा अर्चना करते हैं लेकिन अब इस छठघाट में गंदगी फैलाने के लिए तैयारी जोर शोर से की जा रही है। ग्रामीणों ने कहा कि अगर नाले के पानी को बीच छठ घाट में गिरेगा तो लोग कैसे कार्तिक पूर्णिमा और छठ पूजा में पूजा पाठ करेगे। इसीलिए पीएचडी के संवेदक से ग्रामीणों ने मांग किया कि इस नाले के पानी को किसी अन्य जगह गिराने का काम किया जाए ताकि कोसुक छठ घाट में गंदगी का अंबार नहीं लग सके। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.