Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    खैराबाद\सीतापुर। सभी मानव जाति अपने धर्म और नियम के अनुसार अल्लाह ईश्वर की इबादत करते हैं लेकिन ग़रीबों कमजोरों से मोहब्बत करना सभी मानव जाति का प्रथम कर्तब्य है:-फुरक़ान मियां

    शरद कपूर 

    खैराबाद\सीतापुर। स्थानीय दरगाह हाफ़िज़िया असलमिया में ख़्वाजा सुलेमान तौंस्वी के दो दिवसीय 177 वे उर्स चरागा के दूसरे दिन प्रातः क़ुरआन ख़्वानी का आयोजन किया गया इसके बाद महफिले समा क़व्वाली प्रारम्भ हुई और 11 बजे क़ुल शरीफ सम्पन्न हुआ।क़ुल के समापन अवसर पर सज्जादानशींन हाजी सैय्यद फुरक़ान वहीद हाशमी ने ज़ायरीन श्रद्धालुओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि सभी सूफी सन्तों ऋषि मुनियों ने सदैव आपस मे मेल मिलाप मोहब्बत का संदेश दिया और अपने कर्मों को सुधारने तथा अपने क्रिया कलापों को अच्छा बनाने एवम अपने आचरण को सही रखने का संदेश दिया और यही शिक्षा भी दी कि सब एक रहो और नेक बने रहो तथा अपने धर्मों के अनुसार अपनी इबादतों को करने का पैगाम भी दिया। 

    इसी लिए मैं कहना चाहता हूं कि आप लोग इतनी दूरी तय करके इस चरागा उर्स में शिरकत करने आए हैं तो जिस आस्ताने पर आए और जिनके उर्स में शरीक हुए उनकी दी हुई शिक्षा पर भी अमल करें नमाज़ की पाबंदी सर्व प्रथम करना होगा अपने माता पिता का आदर सत्कार और अपने पड़ोसियों से अच्छा बर्ताव करना चाहिए किसी की भी तरक़्क़ी को देख कर ईर्ष्या नही पैदा हो बल्कि और खुशी होनी चाहिए ग़रीबों, कमज़ोरों,परेशान और यतीम अनाथ लोगों की मदद का जज़्बा जब आपके अंदर होगा तभी आपका उर्स में आना सफल होगा यहां की उपस्थिति मानी जाएगी अन्यथा सब बेकार है।इसके बाद हज़रत ख्वाजा सुलेमान तौंस्वी के वस्त्रों का दर्शन श्रद्धालुओं को मजा शाह क़लन्दर लहरपुर के सज्जादानाशीन सैय्यद गयास मियां, फफूंद शरीफ़ के मौलाना अज़हर मियां चिश्ती, सैय्यद फ़रमान मियां चिश्ती हाशमी ने करवाया।

    इससे पूर्व रात में चरागा में पहले महिलाओं ने चराग जलाया फिर 12 से बजे 2बजे रात तक पुरुषों ने चराग रोशन किया लेकिन रात्रि  तो चराग रोशन करने का कार्यक्रम प्रातः 4 बजे तक चला।रात 10 बजे से भण्डारे का प्रारम्भ हुआ जो 3 बजे तक चला फिर दोपहर 12 बजे से फिर प्रारम्भ हुआ जो 3 बजे तक चला।

    रात्रि के समय मुख्य रूप से उपस्थित होने वालों में, फफूंद शरीफ के मौलाना हाजी सैय्यद अख़्तर मियां,वग़ैरह मौजूद रहे जबकि सुबह क़ुल के समय  हैदराबाद के सैय्यद वजाहत हमीद चिश्ती मियां, खुर्शीद अहमद  के अलावा क़ारी इस्लाम अहमद आरफ़ी, क़ारी फय्याज,मौलाना सैयद अज़हर मियां चिश्ती, सैय्यद ग़ुलाम हाफ़िज़ मियां चिश्ती, सैय्यद नवाज़िश मियां चिश्ती, सैय्यद फरजान मियां ,सैय्यद सलमी मियां,सैय्यद फरहान मियां,सैय्यद फरमान मियां चिश्ती,इमरान सिद्दीकी, इमरान किरमानी, हाफिज नईम सिद्दीकी, हाफिज आरिफ, हाफिज मुशीर अहमद,हाजी सैय्यद एहतरामुल हसन रिज़वी,मोइन अहमद सीतापुरी,जुनेद,सादी फ़ारूक़ी, हमज़ा सिद्दीकी, तशहीर सिद्दीकी, अवसाफ अहमद, इस्लाम अहमद,पप्पू,सलीम खान,अक़ील  खान,पालिकाध्यक्ष खैराबाद हाजी जलीस अहमद अंसारी, पूर्व अध्यक्ष अतीक अहमद अंसारी, हाजी मोहम्मद हनीफ अंसारी ,पूर्व उपाध्यक्ष शाहिद अली अंसारी अध्यक्ष प्रत्याशी जावेद मुस्तफ़ा टीटू खान, मुस्तकीम अंसारी,यूसुफ खान आदि मौजूद थे जबकि ज़ायरीन में आंध्रप्रदेश, राजस्थान, मध्यप्रदेश, दिल्ली, हैदराबाद गुजरात तथा उत्तरप्रदेश के तमाम जनपदों से आकर चराग जलाया।पूरे मेले की सुरक्षा में पुलिस बल पूरी मुस्तैदी से लगा रहा अंत में दरगाह मतवल्ली सैय्यद इरफान वहीद हाशमी ने सभी का शुक्रिया अदा किया।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.