Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। आगामी मार्च तक 5 स्टार कटेगरी के होंगे रामनगरी के 1000 सरकारी विद्यालय:- नीतीश कुमार डीएम

     ......... रामनगरी को शिक्षा के क्षेत्र में भी उन्नत बनाने में जुटी है योगी सरकार

    अयोध्या। रामनगरी में तीव्र गति से बन रहे श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर के साथ ही प्रदेश की योगी सरकार अयोध्या को हर क्षेत्र में विकसित करने की योजना में जुटी है। प्रदेश सरकार रामनगरी को स्मार्ट सिटी व सोलर सिटी बनाने के साथ ही शिक्षा के क्षेत्र में बड़ा प्रयास कर रही है। जिसको लेकर जनपद के 1000 सरकारी विद्यालयों को 5 स्टार कटेगरी बनाने की योजना पर कार्य कर रही है। अगले मार्च तक अयोध्या के सभी विद्यालय 5 स्टार के होंगे।

    नीतीश कुमार डीएम अयोध्या

    जिलाधिकारी नीतीश कुमार ने बताया कि कायाकल्प योजना के दो चरण है। एक शहरी और दूसरा ग्रामीण तो ग्रामीण क्षेत्र में शुरू से ही इस योजना को शुरू किया गया था। जनपद में 1792 विद्यालय है। जिसमे 1400 विद्यालयों में अच्छी प्रगति है। 290 विद्यालय है जिसमे सभी 19 मानकों को पूरा किया गया। इस योजना का पैरामीटर है कि विद्यालयों में क्या क्या होना चाहिए। जिसमें 290 विद्यालय है उसे 5 स्टार कटेगरी के है। आगे टारगेट रखा गया है कि 3 से 4 महीनों में 1000 विद्यालय में सभी 19 मानकों को पूरा कर 5 स्टार कटेगरी के विद्यालय बना दिए जाय। कुछ जो 3 स्टार व 4 स्टार कटेगरी तो हम लोगों ने वित्तीय वर्ष में टारगेट रखा है। कि मार्च तक 1000 स्कूल हमे 5 स्टार कटेगरी के बनाने है। उसके बाद ही 3 व 4 स्टार के विद्यालय को 5 स्टार कटेगरी बनाएंगे।

    जिलाधिकारी नीतीश कुमार ने कहा कि वहीं स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था को भी सुधारने को लेकर विद्यालयों को निर्देशित किया कि एक रजिस्टर होना चाहिए तथा बच्चों की पढ़ाई 8 घंटे होनी चाहिए। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही नही होनी चाहिए। जिलाधिकारी ने कहा कि वर्ष 2022-23 में कम्पोजिट ग्राण्ट की कम्पोजिट स्कूल ग्राण्ट की तैयारी विद्यालयवार प्राथमिकता के आधार पर तैयार करायी गयी है। अयोध्या में 1792 विद्यालयों के सापेक्ष 1614 विद्यालयों में विद्युतीकरण का कार्य हो चुका है। विद्युत पोल से 40 मीटर से अधिक दूरी वाले 178 विद्यालयों में विद्युतीकरण का कार्य कराया जाना शेष है। 41 विद्यालयों में विद्युतीकरण कराये जाने हेतु धनराशि विद्युत विभाग में जमा हो चुकी है। 1792 विद्यालयों के सापेक्ष 1569 विद्यालयों में बाउण्ड्रीवाल का निर्माण कार्य पूर्ण है। 156 विद्यालय में बाउण्ड्रीवाल आरम्भ है। तथा 67 विद्यालयों में बाउण्ड्रीवाल का निर्माण कार्य पूरा करने के निर्देश दिये गये। उन्होंने आॅपरेशन कायाकल्प के अन्तर्गत 1792 विद्यालयों का जियो टैग सर्वेक्षण ए0आर0पी0 द्वारा कराया जा रहा है तथा आपरेशन कायाकल्प के असंतृप्त पैरामीटर पर विद्यालयवार सूची सम्बंधित खण्ड विकास अधिकारियों को उपलब्ध करायी जा चुकी है। जिसके आधार पर कायाकल्प का कार्य कराया जा रहा है। उन्होंने जर्जर भवनों के स्थान पर 12 नवीन प्राथमिक तथा 1 नवीन उच्च प्राथमिक विद्यालय की मांग राज्य परियोजना कायाकल्प से की गयी है। सभी 1792 विद्यालयों में गत तीन वर्षो में कम्पोजिट स्कूल ग्राण्ट से कराये गये व्यय का विवरण वाॅल राइटिंग का कार्य कराया जा रहा है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.