Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गोण्डा। विश्व पर्यटन के नक्शे पर जल्द होंगे जिले के 37 गांव, 84 कोसी परिक्रमा मार्ग को मिला एनएच का दर्जा।

    .............. आध्यात्मिक महात्म्य वाले मार्ग में 13 सड़कें शामिल

    गोण्डा। 84 कोसी परिक्रमा पर जिले में बनने वाली 78 किमी लम्बी सड़क को राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) का दर्जा मिल जाएगा। साथ ही रास्ते के 37 गांवों जल्द ही विश्व पर्यटन के नक्शे पर होंगे। आध्यात्मिक महात्म्य वाली इस सड़क में जिले की 13 सड़कों को शामिल किया जा रहा है। केन्द्रीय भूतल एवं परिवहन मंत्रालय से फोरलेन  बनने के साथ इससे जुड़े माझा इलाके के 37 गांवों का न सिर्फ कायाकल्प होगा बल्कि, उनका महत्व भी बढ़ेगा। इन गांवों की सीरत व सूरत बदलने की उम्मीदें हैं और अयोध्या के साथ आध्यात्मिक व पौराणिक महात्म्य से जुड़कर विश्व पर्यटन के नक्शे पर भी छाए रहेंगे।

    पीडब्ल्यूडी के मुख्य अभियंता वीरेन्द्र चौधरी का कहना है कि इन सभी 13 सड़कों को विभाग ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण आफ इंडिया को हैंडओवर करने की प्रक्रिया पूरी कर दी है। इन सड़कों के कुछ हिस्से कटेंगे और कुछ हिस्से में नई सड़क बनने के भी प्रस्ताव हैं। फोरलेन के लिए प्रस्तावित परिक्रमा मार्ग पर जिले के 37 ग्राम शामिल है। इन सड़क से जुड़े गांवों की रुपरेखा बदलने के साथ नए आयाम भी स्थापित होगें। इनमें परसपुर ब्लाक के शिवगढ़, भौरीगंज, सकरौर, पसका, ताराडीह, बहुवन मदार माझा, देवीगंज बाजार, चरसड़ी बाजार व परसपुर ग्राम हैं। वहीं बेलसर ब्लाक के मुकुन्दपुर, उमरी बेगमगंज, जफरापुर, डिक्सिर, नियवा, अग्रपुरवा, अमदही, पकड़ी बाजार ग्राम हैं। तरबगंज ब्लाक के जमथा, गौरिया, भानपुर, शरीफगंज, भरहा पाठक, रांगी, जनवार पुरवा, महरमपुर, तुलसीपुर ग्राम हैं। नवाबगंज ब्लाक के चौखड़िया, रघुनाथपुर, मंहगूपुर, नवाबगंज, मीरपुर युसुफ, निरिया व रीवा आदि ग्राम इस सड़क से जुड़ेंगे। 

    • एनएचएआई बनाएगा फोरलेन

    परिक्रमा मार्ग में पड़ने वाले सड़कों का फोरलेन का निर्माण एनएचएआई करेगा। इनमें फोरलेन के लिए भूमि अधिग्रहीत होगी, सड़क का निर्माण प्रथम चरण में दो लेन होगा। वहीं बाकी हिस्से को आवागमन के लायक बनाया जाएगा। हालांकि जिले के दो बाजार पसका व बनुआ के आस्तित्व को लेकर विभाग में संशय बना हुआ है। पसका में सड़क मार्ग का यू-टर्न है और बनुआ में निकट सरयू नदी होने से अलग कोई विकल्प नहीं दिख रहा है। विभाग के अधिकारियों ने यहां राहत देने की उम्मीद जताई है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.