Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। रामनगरी में 3 प्रमुख मार्ग होंगे खास, राम पथ मार्ग, जन्मभूमि मार्ग व भक्ति मार्ग।

    देव बक्श वर्मा  

    अयोध्या। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की धर्म नगरी  अयोध्या को जोड़ने वाले सभी मार्गों को बेहतर किया जाएगा!  राम नगरी में प्रवेश करने वाले सहादतगंज से नया घाट मार्ग को रामपथ, सुग्रीम किला से रामलला मार्ग को जन्मभूमि मार्ग, हनुमानगढ़ी, कनक भवन और रामलला को जोड़ने वाली सड़क को भक्ति मार्ग के नाम से जाना जाएगा। 

    श्रीराम की नगरी हाईटेक होने जा रही है। राम नगरी को जोड़ने वाली सड़कें और रेल मार्ग को सुदृण और सुविधाजनक बनाया जा रहा है! रामनगरी आने वाले राम भक्तों को किसी तरह की कोई परेशानी ना हो इसके लिए प्रदेश सरकार की ओर से लगातार काम किया जा रहा है!  अयोध्या को जोड़ने वाले सभी रेल मार्गों का दोहरीकरण किया जा रहा है। सड़क मार्गों को फोर लेन और सिक्स लेन में तब्दील किया जा रहा है! इन मार्गों पर यात्री सुविधाओं  डेवलप किया गया जाएगा यात्रियों के प्रसाधन की व्यवस्था से लेकर छाजन की व्यवस्था तक सब कुछ किया जाएगा!  काशी के तर्ज पर भगवान राम की नगरी में भी कॉरिडोर की स्थापना होगी!  कार्यदाई संस्थाओं ने तेजी के साथ काम करना शुरू कर दिया है!  रामलला के दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को मंदिर से जोड़ने वाली सड़कों पर यात्री सुविधाओं से युक्त कॉरिडोर देखने को मिलेगा!

    • रामपथ 

    भगवान श्रीराम की नगरी में सहादतगंज से नया घाट को जोड़ने वाली सड़क को रामपथ का नाम दिया गया है!  राम की नगरी में आने वाले श्रद्धालुओं को नेशनल हाईवे से यही सड़क राम नगरी के अंदर लेकर आएगी!

    • जन्मभूमि मार्ग

    रामलला के जन्म स्थली का दर्शन कराने वाली सड़क सुग्रीव किला मार्ग को जन्मभूमि मार्ग का नाम दिया गया है! यह मार्ग 80 फीट चौड़ा होगा!  श्रद्धालुओं को  राम नगरी में होने का आभास होने के साथ उनकी सुविधाओं का भी लाभ मिलेगा! प्रसाधन, पीने का पानी ऐसे तमाम चीजें जो श्रद्धालुओं के हित में हैं!  सड़कों पर इलेक्ट्रिकल वाहन को पूर्ण रूप से संचालित किया जाएगा! ईंधन द्वारा संचालित वाहनों का प्रवेश राम जन्मभूमि दर्शन मार्ग पर नहीं हो सकेगा!

    • भक्ति मार्ग

    तीसरा और आखिरी मार्ग होगा भक्ति मार्ग जो हनुमानगढ़ी से कनक भवन और राम जन्म भूमि को जोड़ेगा! इस मार्ग पर भी यात्री सुविधाओं को बढ़ाया जाएगा! इस मार्गों पर दोहरीकरण का काम शुरू कर दिया गया है। तीन सड़कों को शासन ने स्वीकृत की है! इन सभी मार्गों का निर्माण  PWD से कराया जायेगा! इन तीनों मार्ग  का निर्माण हो जाने पर अयोध्या आने वाले राम भक्तों को इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा बल्कि इन्हीं तीनों मार्ग से आकर जन्म भूमि का दर्शन कर सकेंगे और अयोध्या के आकर्षण का लाभ उठायेंगे। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.