Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    नैमिषारण्य\सीतापुर। शांतिपूर्ण ढंग से मनाया गया नागपंचमी का त्योहार

    नैमिषारण्य\सीतापुर। नैमिषारण्य तीर्थ में प्रतिवर्ष बड़ी धूमधाम से मनाया जाने वाला नागपंचमी का त्योहार शांतिपूर्ण ढंग से मनाया गया। इस अवसर पर नैमिष के भूतेश्वर नाथ महामृत्युंजय मंदिर समेत सभी मंदिरों में भव्य श्रृंगार किया गया ।

    जनपद में नागपंचमी का त्यौहार सबसे प्रमुख त्यौहारों में से एक है । इस दिन नाग देव का प्रतीकात्मक पूजन किया जाता है और नागों से परिवार की रक्षा की कामना की जाती है । नैमिषारण्य समेत पूरे जिले में इस दिन गुड़िया को झुलाए जाने की परम्परा रही है,इसके अलावा कुछ रूढ़िवादी लोग गुड़िया पीटने की परम्परा है । नैमिषारण्य तीर्थ स्थित प्राचीन हुरिया टीले पर नागपंचमी पर्व के उपलक्ष्य में नगर वासी अपने परिवार के साथ उपस्थित हुए और पूर्व परम्परा के अनुसार गुड़िया मनाने के बाद भगवान भूतेश्वर नाथ और माता ललिता देवी के दर्शन किये। मेले में आये लोगों को बंटी शर्मा, आदित्य शाहाबादी, सूरज, आदि के द्वारा पूड़ी सब्जी और हलवा वितरित किया गया।

    • "भूतेश्वर नाथ, महामृत्युंजय मन्दिर में हुआ भव्य श्रृंगार"

    नाग पंचमी के शुभ अवसर पर शनिवार शाम को चक्रतीर्थ स्थित भूतेश्वर नाथ मंदिर में पुजारी राजनारायण पांडेय एवं महामृत्युंजय पीठ में नैमिष आचार्य रमेश चंद्र शास्त्री द्वारा श्रृंगार किया गया । बाबा महामृत्युंजय भगवान का दूध, दही, गंगाजल शहद बेलपत्र धतूरा से बाबा का जलाभिषेक किया ।  इस अवसर पर भोलेबाबा की सायंकालीन आरती की गयी ।  महामृत्युंजय मंदिर में श्रद्धालुओं को प्रसाद में कोल्ड ड्रिंक, बताशे, बूंदी, मखाने, फल, ठंडाई इत्यादि प्रसाद वितरित किया गया ।

    • "समाजसेवी की पहल से तीसरी आँख की निगरानी में मना त्यौहार"

    समाजसेवी और व्यवसायी राजेश चतुर्वेदी उर्फ़ डब्लू द्वारा नागपंचमी मेले में आये नगर वासियों की सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिगत कैमरे लगवाये । सीसीटीवी की मदद से पुरे मेले का नजारा एक स्थान पर बैठ कर लोगों ने देखा । राजेश चतुर्वेदी ने बताया कि समाज से पैसा कमा कर जनहित में उसका उपयोग करना हमारी जिम्मेदारी है। इस मौके पर स्थानीय जनों ने उनके प्रयास की सराहना की।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.